हरियाणा BJP में आपसी फुट हुई उजागर, रणजीत और बराला हुए आमने- सामने; पढ़े पूरा माजरा

हिसार | हरियाणा में भारतीय जनता पार्टी (BJP) के दो दिग्गज नेताओं के बीच जुबानी जंग थमने का नाम ही नहीं ले रही है. बता दें कि हिसार लोकसभा सीट से बीजेपी प्रत्याशी रहें बिजली मंत्री रणजीत चौटाला ने अपनी हार के लिए कई नेताओं को जिम्मेदार ठहराया था, जिसमें एक नाम राज्यसभा सांसद सुभाष बराला का भी था. इसकी एक ऑडियो क्लिप भी वायरल हुई थी, जिसके बाद बराला की प्रतिक्रिया सामने आई थी.

Ranjeet Cahutala Subhash Barala

हाईकमान को सौंपी रिपोर्ट

हिसार में मीडिया से बातचीत करते हुए रणजीत चौटाला ने कहा कि लोकसभा चुनाव को लेकर मैंने केंद्रीय नेतृत्व को रिपोर्ट सौंप दी है. पूरा मामला हाईकमान के नोटिस में आ चुका है. बीएल संतोष, केंद्रीय मंत्री मनोहर लाल, सीएम नायब सैनी को पूरी रिपोर्ट दे चुका हूं. साथ ही, गृहमंत्री अमित शाह से मुलाकात के लिए समय मांगा हुआ है, उनको भी अवगत कराऊंगा.

सुभाष बराला पर साधा निशाना

सुभाष बराला के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए रणजीत चौटाला ने कहा कि सुभाष बराला तो कल आए हैं. मैं 1987 से विधायक हूं. वो अब गए हैं राज्यसभा में, मैं तो 1990 में राज्यसभा सांसद बना था. बराला अपनी समझ अपने पास रखें, रणजीत सिंह को देने की जरूरत नहीं. उनसे कहीं ज्यादा राजनीतिक अनुभव रणजीत चौटाला के पास है.

सुभाष बराला ने कही थी ये बात

रणजीत चौटाला की वायरल ऑडियो पर सुभाष बराला ने कहा था कि कुछ लोगों को बीजेपी के कल्चर के बारे में जानकारी नहीं है. शायद वह पार्टी की नीतियों को समझ नहीं पाए. मुझे उनके आरोपों का जवाब देने की जरूरत नहीं है. वहीं, हिसार लोकसभा सीट पर भीतरघात होने की बात पर बराला ने कहा था कि ऐसी कोई बात नहीं है.

रानियां विधानसभा मेरी प्राथमिकता

वहीं, विधानसभा चुनाव को लेकर उन्होंने कहा कि रानियां हल्के से लड़ना मेरी सबसे पहली प्राथमिकता रहेगी. अगर पार्टी कहीं और से लड़ाएगी तो भी मैं तैयार हूं. अब विधानसभा चुनाव लड़ेंगे या लड़ाएंगे, इस बात का फैसला पार्टी करेगी. भुपेंद्र हुड्डा को लेकर उन्होंने कहा कि उनके साथ मेरे सामाजिक संबंध है. कांग्रेस पार्टी में जाने का कोई विचार नहीं है.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!