हुई दुर्लभ बड़ी वैक्सीन- थोड़ी-थोड़ी लगाया करो: सीएम मनोहर बोले- हम वैक्सीनेशन धीरे-धीरे चला रहे, ताकि रोज काम चलता रहे

चंडीगढ़ । प्रदेश में कोरोना वैक्सीन लगने की रफ्तार बेहद धीमी होती जा रही है. 18+ के लिए वैक्सीन डोज का टोटा है. इसी बीच मुख्यमंत्री मनोहर लाल के वैक्सीनेशन धीमा रखने को लेकर दिए गए एक बयान पर विवाद छिड़ गया है. रविवार को डिजिटल मीडिया पर दिए गए बयान में उन्होंने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर तंज कसते हुए कहा था कि हम उनकी तरह एक दिन में स्टॉक खत्म नहीं करते बल्कि समझदारी से हर रोज 50-60 हजार डोज लगा रहे हैं ताकि काम चालू रहें.

यह भी पढ़े -   हरियाणा में लॉकडाउन को लेकर नई टाइमिंग जारी, इन नियमों में किया गया बदलाव

Webp.net compress image 11
विपक्ष ने मुख्यमंत्री को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि सरकार जानबूझकर वैक्सीन लगाने का काम धीमा कर रही है. वहीं उनके इस बयान को लेकर सोशल मीडिया पर एक कवि ने लिखा कि’ हुई दुर्लभ बड़ी वैक्सीन— थोड़ी थोड़ी लगाया करो.’ कुछ यूजर्स ने ट्रोल करते हुए लिखा कि वैक्सीन शोरूम में रखने की चीज नहीं है जिसे बचाकर रखा जाएं. वैक्सीनेशन अभियान में तेजी क्यों जरूरी है,यह उनसे जानिए जिन्होंने इस महामारी की वजह से अपनों को खोया है.

यह भी पढ़े -   हरियाणा कैबिनेट की मीटिंग शुरू, कई अहम मुद्दों पर होगा फैसला

एक न्यूज चैनल की पड़ताल में सामने आया कि 10 जिलों में 18+ के टीके खत्म हो चुके हैं. 5 जिलों में हजार से कम डोज बची हुई है. वैक्सीनेशन की यही गति रहीं तो पूरे प्रदेश को कवर करने में 7 साल से ज्यादा लग जाएंगे. जबकि हार्ड इम्यूनिटी सिस्टम के लिए 70% आबादी का टीकाकरण ज़रुरी है. हालांकि बाद में मुख्यमंत्री ने अपने बयान पर सफाई देते हुए कहा कि उन्होंने यह नहीं कहा था कि वैक्सीन ना लगाएं, स्टॉक देखकर वैक्सीनेशन अभियान चलाया जाएं.

यें कहा था सीएम ने

मुख्यमंत्री ने कहा था कि टीके आपको (केजरीवाल) बाकी प्रदेशों की तुलना में ज्यादा मिलते हैं. फिर भी कल से सारे वैक्सीनेशन सेंटर बंद हैं, बंद क्यों. हम भी 2 लाख एक दिन में लगाकर स्टॉक खत्म कर सकते हैं. हम 50-60 हजार रोज लगाएंगे तो हमारा काम चलता रहेगा. यें सुझबुझ अरविंद केजरीवाल को भी रखनी चाहिए.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!