हरियाणा से करोगे ITI, तो विदेशों में मिल जाएगी नौकरी, जाने कैसे

चंडीगढ़ । हाल ही में कौशल विकास एवं औद्योगिक प्रशिक्षण मंत्री मूलचंद शर्मा ने विभाग की बैठक के दौरान बड़ा बयान दिया है, उन्होंने कहा- कि ऐसी एजेंसियों द्वारा संबंधित देश के मानदंडों के हिसाब से ITI पासआउट युवाओं को अल्पावधि प्रशिक्षण दिया जाएगा और उनका टेस्ट लेकर प्रमाण पत्र भी दिया जाएगा. इससे टेस्ट पास करने वाले युवा उस देश में रोजगार हासिल कर सकेंगे, और वहां की स्थायी नागरिकता भी ले सकेंगे.

ITI Haryana

 हरियाणा में ITI करने वाले युवा अब अपने हुनर के हिसाब से विदेशों में भी नौकरियां हासिल कर सकेंगे. ITI पास युवाओं के कौशल विकास के मकसद से विदेशी एजेंसियों की मदद ली जाएगी. कौशल विकास एवं औद्योगिक प्रशिक्षण मंत्री मूलचंद शर्मा ने यह विभाग की समीक्षा बैठक के दौरान कहा- कि ऐसी एजेंसियों द्वारा संबंधित देश के मानदंड के हिसाब से ITI पासआउट युवाओं को अल्पावधि प्रशिक्षण दिया जाएगा, और उनका टेस्ट लेकर उन्हें प्रमाण पत्र भी जारी किया जाएगा. इससे टेस्ट पास करने वाले युवा उस देश में जाकर रोजगार हासिल कर सकेंगे, और वहां की स्थायी नागरिकता भी हासिल कर सकेंगे.

मूलचंद शर्मा ने कहा- कि विभाग द्वारा मुख्यमंत्री खट्टर की हर साल 1लाख लोगों के अंत्योदय के लक्ष्य की तर्ज पर प्रदेश में ऐसे परिवारों को 1 लाख बच्चों की पहचान करके उन्हें प्रशिक्षित किया जाएगा. इसके अलावा परिवहन विभाग में चालक प्रशिक्षण के इच्छुक उम्मीदवारों को प्रशिक्षित करने के लिए विभाग से बात की जाएगी. उन्होंने आगे कहा कि ITI में गरीब आदमी का बच्चा ही दाखिल लेता है ऐसे में उनको मांग के मुताबिक कोर्स करवाकर रोजगार के काबिल बनाना विभाग की जिम्मेदारी है.

यह भी पढ़े -   PHED हरियाणा में निकली नई DC रेट भर्ती, 21 से 60 वर्ष वाले यहाँ से करे आवेदन

शर्मा ने कहा- कि विभिन्न एजेंसियों के माध्यम से कार्यरत कर्मचारियों को कम वेतन देने ESI और EPF जैसे मामलों में किसी भी तरह की कोताही या अनियमितता बर्दाश्त नहीं की जाएगी, और संबंधित अधिकारी या कर्मचारी के खिलाफ़ कड़ी कार्रवाई की जाएगी साथ ही ऐसी एजेंसी को भी ब्लैकलिस्ट में किया जाएगा, उन्होंने कहा-कि आउटसोर्सिंग के तहत ITI में कार्यरत कर्मचारियों का ESI और EPF जमा करवाना, यह सुनिश्चित करना कि किसी कर्मचारी को डीसी रेट से कम वेतन नहीं मिले संबंधित प्रिंसिपल की जिम्मेदारी है

यह भी पढ़े -   हरियाणा परिवहन विभाग घाटे में, बैठक में लिए जा सकते हैं बड़े फैसले

कौशल विकास एवं औद्योगिक प्रशिक्षण मंत्री ने कहा- कि एजेंसियों के माध्यम से कार्यरत कर्मचारियों को कम वेतन देने से जुड़ी शिकायतों की जांच करवाई गई है जांच रिपोर्ट के आधार पर सरकारी ITI बहादुरगढ़ के तत्कालीन प्रिंसिपल द्वारा बरती गई अनियमितताओं के लिए उसके खिलाफ़ FIR दर्ज करवाई गई है. उन्होंने कहा कि आउटसोर्सिंग पॉलिसी भाग एक के तहत विभिन्न एजेंसियों के माध्यम से कार्यरत कर्मचारियों की सेवाएं एक ही एजेंसी से लेने के लिए सेंट्रलाइज्ड टेंडर जारी किया जाएगा. इसके साथ ही उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि जो लोग आउटसोर्सिंग पॉलिसी भाग एक के तहत इस समय कार्यरत हैं उन्हें हटाया जाए.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!