एचएयू ई -ट्रैक्टर पर अनुसंधान करने वाला बना पहला विश्वविद्यालय

हिसार । चौधरी चरण सिंह हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय हिसार इलेक्ट्रिक ट्रैक्टर पर अनुसंधान करने वाला देश का पहला कृषि विश्वविद्यालय बन गया है. बता दें कि विश्वविद्यालय के कृषि इंजीनियरिंग और प्रौद्योगिकी कॉलेज नें इस ई -ट्रैक्टर को तैयार किया है. यह ट्रैक्टर 16.2किलो वाट की बैटरी से चलता है, वहीं डीजल ट्रैक्टर की तुलना में इसकी संचालन लागत भी काफी कम है. वही विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर बीआर कांबोज ने जानकारी दी कि यह ई- ट्रैक्टर 23.7 किलोमीटर प्रति घंटे की अधिकतम रफ्तार से चलेगा.

यह भी पढ़े -   क्रेशर व बजरी सहित निर्माण सामग्री की कीमतों में जबरदस्त उछाल, जानिए क्यों आई एकदम तेजी

hau tractor

जानिये ई ट्रैक्टर के फायदे

वही इस ई ट्रैक्टर से 1.5टन वजन के ट्रेलर के साथ 80 किलोमीटर तक का सफर किया जा सकता है. इस ट्रैक्टर का प्रयोग करने से किसानों की आय में काफी वृद्धि होगी. यह अनुसंधान उपलब्धि कृषि मशीनरी और फार्म इंजीनियरिंग विभाग के वैज्ञानिक एवं वर्तमान निदेशक उत्तरी क्षेत्र कृषि मशीनरी परीक्षण एवं प्रशिक्षण संस्थान हिसार डॉ मुकेश जैन के मार्गदर्शन में प्राप्त हुई है. वहीं कुलपति ने वैज्ञानिकों की इस नई खोज की प्रशंसा की और कहा कि भविष्य में इसी प्रकार किसान हितेषी अनुसंधान कार्य पर जोर दिया जाएगा.

यह भी पढ़े -   हरियाणा में पेट्रोल-डीजल की कीमतों में फिर उछाल, जानें क्या है नई कीमत

विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर बीआर कांबोज ने बताया कि इस ई -ट्रैक्टर मे 16.2 किलोवाट आवर की लिथियम आयन बैटरी का प्रयोग किया गया है. बैटरी को 9 घंटे में फुल चार्ज किया जा सकता है. वहीं इस दौरान 19 से 20 यूनिट बिजली की खपत होगी. उनके अनुसार यह ट्रैक्टर1.5 टन वजन के ट्रेलर के साथ 80 किलोमीटर तक का सफर कर सकता है. वहीं इसमें फास्ट चार्जिंग का भी विकल्प मौजूद है जिसकी सहायता से बैटरी महज 4 घंटे में चार्ज हो सके गी.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!