हरियाणा के इन शहरों को जोड़ा जाएगा मेट्रो लाइन से, 70 Km की स्पीड से सफर कर पाएंगे यात्री

नई दिल्ली । दिल्ली एनसीआर को एक सूत्र में पिरोने के लिए मेट्रो रेल का जाल काफी तेजी से बिछाया जा रहा है. जिसकी वजह से एनसीआर में 6 नए मेट्रो रेल कॉरिडोर का प्लान तैयार किया गया है. वही रेलवे प्लानिंग बोर्ड का मानना है कि लोगों को अधिक से अधिक परिवहन सुविधा उपलब्ध कराए जाने के लिए मेट्रो का जाल बिछाया जाना बेहद आवश्यक है.

Delhi Metro

प्रदूषण मुक्त होगा दिल्ली 

ऐसा करने से एक ओर जहां लोगों का समय बचेगा, दूसरी ओर दिल्ली एनसीआर में प्रदूषण भी कम होगा. वही जाम की समस्या से भी बचा जा सकता है. आने वाले कुछ सालों में दिल्ली एनसीआर में 6 नए कॉरिडोर बनाए जाने की योजना पर कार्य चल रहा है. नए कोरिडोर के अंतर्गत गुरुग्राम और फरीदाबाद के बीच ना केवल मेट्रो रेल चलाने की स्वीकृति शामिल है, बल्कि हरियाणा के इन दोनों शहरों को सीधे नोएडा नेटवर्क से जोड़े जाने की योजना भी शामिल है.

एनसीआर प्लानिंग बोर्ड ने अपने प्लान में 2041 तक के ड्राफ्ट में यातायात साधनों पर फोकस किया है. इसमें नए हाईवे, रेलमार्ग और मेट्रो सेवाओं पर विशेष ध्यान दिया जाएगा. एनसीआर प्लानिंग बोर्ड का मानना है कि जब तक दिल्ली में मेट्रो के जाल को नहीं फैलाया जाता, तब तक प्रदूषण और जाम की स्थिति से नहीं बचा जा सकता. एनसीआर के प्रदूषण में 50 % हिस्सेदारी सार्वजनिक क्षेत्र के वाहनों की है. जिस वजह से अधिक जरूरत मेट्रो सेवा के विस्तार की है.

यह भी पढ़े -   हरियाणा सरकार ने बदला जमीन पैमाईश का तरीका, झगड़ों से मिलेगा छुटकारा

फिलहाल मेट्रो सेवा को दिल्ली के साथ-साथ फरीदाबाद, नोएडा, गुरुग्राम और गाजियाबाद से जोड़ा जा चुका है. इसके चलते ही 6 नए कोरिडोर की पहचान की गई है, ताकि दूसरे चरण में मेट्रो सेवा में अन्य शहरों को भी जोड़ा जा सके.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!