जींद में किसान ने दो एकड़ गेहूं पर चलाया ट्रैक्टर, बोला- जो टिकैत कहेंगे, उसका पालन करेंगे

जींद | किसान बिलों का विरोध थमने का नाम ही नहीं ले रहा है. विरोध इस स्तर पर पहुंच गया है कि किसान अपनी खड़ी फसल को नष्ट करने पर उतर आए हैं. आज ही जींद के गुलकणी गांव के किसान राममेहर ने कृषि कानूनों के विरोध में रविवार को अपनी दो एकड़ फसल पर ट्रैक्टर चलाकर नष्ट कर दी.

jind news today

उसने बताया कि वह 10 एकड़ में खेती करता है और यदि इन तीनों कृषि बिलों को वापस नहीं लिया गया तो वह अपनी बाकी फसल पर भी ट्रैक्टर चलाकर उन्हें नष्ट कर देगा. ऐसा ही वाकया जिले के राजपुरा भैणी गांव में भी देखने को मिला है जहां अपनी दो एकड़ जमीन पर किसान ने ट्रैक्टर चलाया है. उनके मुताबिक यदि वो पकी फसल जलाते तो उन पर प्रदूषण को लेकर सख्त कार्यवाही हो सकती है इसलिए कच्ची फसल को नष्ट कर रहे हैं जिससे खेतों को भी हरी खाद मिलेगी जिससे मिट्टी की उपजाऊ क्षमता बढ़ेगी. उन्होंने कहा कि वे राकेश टिकैत के बयानों को सच साबित करेंगे यदि सरकार उनकी मांगें नही मानती है तो. वे केवल इतनी ही फसल रखेंगे जिससे उनका घर खर्च चल सके.

यह भी पढ़े -   टिकरी बॉर्डर पर किसानों ने मनाई TMC की जीत की खुशी, बोले- ये हमारी जीत

राकेश टिकैत ने कहा है कि किसी भी सुरत में आंदोलन को कमजोर नही पड़ने दिया जाएगा, अगर सरकार को लगता है कि फसल कटाई के समय दिल्ली बॉर्डर खाली हो जाएगा व किसान घर पर आ जाएंगे तो यह उनका वहम है. जब तक उनकी मांगें पूरी नहीं होती विरोध अनवरत जारी रहेगा.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!