हरियाणा में होगी 852 सेवानिवृत्त विशेषज्ञ डाक्टरों की भर्ती, एक दिन का वेतन होगा दस हजार

पंचकूला ।  हरियाणा में बेकाबू हो रही कोरोना संक्रमण की दूसरी पीक पर अंकुश लगाने के लिए प्रदेश सरकार सेवानिवृत्त डाक्टरों की नियुक्ति करेगी. हर रोज 10,000 रुपए मेहनताना पर इन डाक्टरों की भर्ती नेशनल हैल्थ मिशन के तहत की जाएगी. प्रदेश में संक्रमित केसों की संख्या में तेजी से इजाफा हो रहा है. ऐसे में संक्रमित मरीजों के उपचार में स्पेशलिस्ट डाक्टरों की कमी साफ तौर पर खल रही है. लिहाजा इस त्रासदी पर काबू पाने के लिए प्रदेश की मनोहर सरकार ने नेशनल हेल्थ मिशन के तहत 852 चिकित्सकों की भर्ती करने का फैसला किया है.

Doctor Photo

भर्ती होने वाले चिकित्सकों को उनकी काबिलियत के आधार पर अच्छी खासी तनख्वाह दी जाएगी. हरियाणा मेडिकल सर्विसेज कैडर के सेवानिवृत्त अफसरों को भी सेवा में लिया जाएगा. हालांकि इन सेवानिवृत्त डाक्टरों की उम्र का पैमाना 70 साल से अधिक नहीं होना चाहिए. कोरोना महामारी पर काबू पाने के लिए इन डाक्टरों से एक साल तक सेवाएं ली जाएगी.
स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के मुख्य सचिव ने हाईकोर्ट को सौपी स्टेटस रिपोर्ट में कहा है कि अधिक से अधिक डाक्टरों की सेवाएं लेने से कोरोना की लहर को रोकने में मदद मिलेगी.

सरकार द्वारा किए जा रहे भरसक प्रयास के बावजूद भी कोरोना संक्रमण नहीं रुक रहा है. लाकडाउन लगाने के बाद भी संक्रमित केसों की संख्या तेजी से बढ़ रही है. इस समय राज्य में संक्रमण की दर 7.17 फीसदी पर पहुंच गई है और रिकवरी रेट 79.10 पर अटकी हुई है. मृत्यु दर(0.88) के मामले में प्रदेश की स्थिति अन्य राज्यों से कहीं बेहतर है,जो चिकित्सकों के लिए हौसला बनाए रखने का काम कर रही है.

यह भी पढ़े -   हरियाणा सरकार खरीदेगी 10 ड्रोन, स्वामित्व योजना के काम में आएगी तेजी

मनमाना किराया वसूलने पर एंबुलेंस होगी जब्त

प्रदेश में कोरोना महामारी के खिलाफ जारी जंग में कई लोग सेवाभाव को दरकिनार करते हुए लोगों की बेबसी व लाचारी का फायदा उठा रहे हैं. प्रदेश में कई जगहों पर एमरजेंसी के हालातों में एंबुलेंस चालकों द्वारा मरीजों के परिजनों से मनमाना किराया वसूलने की शिक़ायत स्वास्थ्य विभाग को मिली है. इस पर कार्यवाही करने हुए प्रदेश सरकार ने सख्त रुख अख्तियार किया है और एडवांस लाइफ सपोर्ट एंबुलेंस के लिए 15 रुपए प्रति किलोमीटर व सामान्य एंबुलेंस के लिए 7 रुपए प्रति किलोमीटर किराया निर्धारित किया है.इससे ज्यादा किराया वसूलने पर एंबुलेंस को जब्त करने के साथ-साथ चालक का लाईसेंस व एंबुलेंस का रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट रद्द किया जाएगा.साथ ही न्यूनतम 50,000 रुपए जुर्माना वसूला जाएगा.

यह भी पढ़े -   HPSC Exam Date 2021: लंबे समय से अटकी हुई 20 भर्तियों की परीक्षा तिथि की घोषित, देखे आदेश

वहीं कोरोना संक्रमित मरीजों को हर रोज आर्युवेदिक डाक्टरों द्वारा मोबाइल के जरिए सुबह 8 से 10 बजे तक इम्यूनिटी सिस्टम मजबूत करने व संक्रमण से बचाव हेतु उपाय दिए जाएंगे. इसके लिए 1075 हेल्पलाइन नंबर जारी किया गया है. स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज का मानना है कि कोरोना महामारी से निपटने हेतु आर्युवेदिक दवाईयां प्रमुख भूमिका अदा कर सकती हैं. कॉल सेंटर पर विशेषज्ञ आर्युवेदिक चिकित्सकों की ड्यूटी लगाई गई है.

यह भी पढ़े -   कोरोना के समय सुर्खियों में रहे गांव टिटौली में फिर होने लगी हंसी- ठिठोली

हरियाणा में लगेंगे 60 ऑक्सीजन प्लांट

स्वास्थ्य मंत्री विज ने बताया कि हमें 6 आक्सीजन जनरेशन प्लांट मिलें थे . इनमें से सोनीपत और करनाल में प्लांट शुरू हो चुके हैं. फरीदाबाद, हिसार, अंबाला व पंचकूला में प्लांट शुरू होने के कगार पर है. केन्द्र सरकार ने इसके अलावा 60 और प्लांट को मंजूरी दी है. ये प्लांट 30,50,100 और 200 बेड वाले हस्पतालों में स्थापित किए जाएंगे. प्लांट लगाने की जिम्मेदारी डीआरडीओ व केन्द्र सरकार की एजेंसी को सौंपी गई है. प्राइवेट अस्पतालों को भी सख्त हिदायत जारी कि हैं कि वे छः महीने के अंदर जरुरत के मुताबिक आक्सीजन जनरेशन प्लांट लगवाएं.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!