रोहतक सांसद की दीपेंद्र हुड्डा को चेतावनी, बोले-आंख उठी तो आंख निकाल लेंगे

रोहतक | हरियाणा के रोहतक स्थित गांव किलोई के प्राचीन शिव मंदिर में बीते शुक्रवार को बीजेपी के पूर्व मंत्री मनीष ग्रोवर समेत 150 बीजेपी नेताओं को 7 घंटे से अधिक समय तक बंधक बनाए जाने वाले घटना पर अब राजनीतिक विवाद बढ़ गया है. रोहतक बीजेपी सांसद अरविंद शर्मा ने घटना के लिए पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा और कांग्रेस को जिम्मेदार ठहराया है.

arvind sharma

किलोई मंदिर प्रकरण के एक दिन बाद बीते शनिवार को बीजेपी के लोकसभा सांसद अरविंद शर्मा ने रोहतक के सबसे व्यस्त छोटू राम चौराहे पर खड़े होकर कॉन्ग्रेस और दीपेंद्र हुड्डा को चेतावनी दी. उन्होंने कहा कि कॉन्ग्रेस और दीपेंद्र हुड्डा सुन लें, अगर मनीष ग्रोवर की तरफ कोई आंख उठी तो उसकी आंख निकाल लेंगे. अगर हाथ उठेगा तो उसके हाथ को काट देंगे. हम उसको छोड़ेंगे नहीं. बीजेपी कार्यकर्ताओं ने बीच चौराहे पर पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा का पुतला भी फूंका.

यह भी पढ़े -   गरीबों की आय बढ़ाने के लिए हरियाणा में लगेंगे अंत्योदय मेले, 29 नवंबर से होगी मेलों की शुरूआत

साथ ही अरविंद शर्मा ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा, ये राज के लिए छटपटा रहे हैं, लेकिन एक बात आज लिख लो कि 25 साल तक भाजपा राज नहीं छोड़ने वाली. कांग्रेस चक्कर काटती रहेगी. उन्होंने आगे कहा कि ऐलनाबाद में इनकी जमानत जब्त हुई, रोहतक और झज्जर के अलावा इनको कोई पूछने वाला नहीं है. इनके साथ शरारती तत्वों को जब आभास होगा कि हुड्डा परिवार से कोई सीएम नहीं बनेगा तो उस दिन ये शरारती तत्व ही इनको जूत मारेंगे.

घटना के लिए भूपेंद्र हुड्डा को ठहराया जिम्मेदार

बीजेपी लोकसभा सांसद अरविंद शर्मा ने शुक्रवार को किलोई मंदिर में हुई घटना के लिए सीधे तौर पर हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा को जिम्मेदार ठहराया. उन्होंने कहा कि किलोई में सिर्फ एक ही शर्त थी कि मनीष ग्रोवर माफी मांगें. मगर वहां 500 से ज्यादा भाजपा के कार्यकर्ता थे, सभी ने ठान ली कि जब तक मनीष ग्रोवर यहां से नहीं जाएंगे, वह भी नहीं जाएंगे. भूखे-प्यासे वहीं बैठे रहे. किसान आंदोलन की आड़ में जो भी ये शरारत कर रहे हैं. ये कांग्रेस के नहीं, बल्कि भूपेंद्र हुड्‌डा के आदमी है. मैं इस बात की निंदा करता हूं.

यह भी पढ़े -   हरियाणा में बुजुर्गों को अभी तक नहीं मिली है वृद्धावस्था पेंशन, अधिकारियों ने बताई यह वजह

जानिए क्या है पूरा मामला

बीते शुक्रवार 5 नवंबर को हरियाणा के रोहतक जिले के गांव किलोई स्थित प्राचीन शिव मंदिर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के केदारनाथ से लाइव टेलीकास्ट को देखने के लिए भाजपा के नेता और कार्यकर्ता पहुंचे थे. हरियाणा भाजपा उपाध्यक्ष एवं पूर्व मंत्री मनीष ग्रोवर भी कार्यक्रम में शामिल होने शिव मंदिर पहुंचे. जिसके बाद कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसानों ने मंदिर के अंदर ही भाजपा की 150 से अधिक कार्यकर्ताओं को 7 घंटे तक बंधक बना लिया. किसानों का आरोप है कि पूर्व भाजपा मंत्री मनीष ग्रोवर प्रदर्शन कर रहे किसानों के खिलाफ आपत्तिजनक भाषा का इस्तेमाल किया. घटना की सूचना मिलने के बाद मौके पर पुलिस के जवान और रैपिड एक्शन फोर्स मौके पर पहुंची और बीजेपी नेताओं को मंदिर परिसर से रिहा किया.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!