सीबीएसई ने दसवीं व बारहवीं की परीक्षा को लेकर लिया बड़ा निर्णय, परीक्षा फॉर्मेट में किया बदलाव

नई दिल्ली | केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने 10वीं और 12वीं क्लास की परीक्षा को लेकर नई गाइडलाइन जारी की है. सीबीएसई ने बताया कि कक्षा 10 और 12 की परीक्षाएं दो टर्म में कराई जाने का निर्णय लिया गया है. सीबीएसई ने दसवीं और 12वीं क्लास की परीक्षाओं को लेकर जो गाइडलाइन जारी की है. उसमें पता चला है कि बोर्ड कक्षा दसवीं में कुल 75 विषय ऑफर करता है. वही कक्षा 12वीं में बोर्ड 114 विषय ऑफर करता है. इन सभी परीक्षाओं को पूरा करवाने में 45 से 50 दिनों का समय लगता है. जिसके कारण सीबीएसई ने स्टूडेंट्स की पढ़ाई के समय का नुकसान रोकने के लिए यह प्रमुख फैसला लिया है.

CBSE

जानिए कब से होगी दसवीं और 12वीं की परीक्षाएं

सीबीएसई भारत और विदेशों में सभी संबंधित स्कूलों में डेट शीट तय करके परीक्षा आयोजित करवाता है. इस वर्ष दसवीं कक्षा की परीक्षाएं 17 नवंबर से प्रारंभ होगी. 12वीं क्लास की परीक्षाएं 16 नवंबर से शुरू करवाई जाने की सूचना दी गई है. सीबीएसई बोर्ड 10वीं व 12वीं कक्षा में 75 और 114 विषय ऑफर करता है. बोर्ड का कहना है कि इतने ज्यादा विश्व के एग्जाम को कराने में 45 से 50 दिन का समय लगता है. जिसके कारण विद्यार्थियों की पढ़ाई का समय खराब होता है. विद्यार्थियों के समय का बचाव करने के लिए बोर्ड इस बार कई विषयों की परीक्षा ग्रुपवाइज लेगा. केवल प्रमुख विषयों की परीक्षा नियमित रूप से ली जाने की योजना बोर्ड ने बनाई है.

जानिए कक्षा 10 व 12 के प्रमुख विषय

क्लास 10 के मुख्य विषय- हिंदी कोर्स ए, मैथ्स स्टैंडर्ड, होम साइंस, हिंदी कोर्स बी, साइंस, सोशल साइंस, कंप्यूटर एप्लीकेशंस, इंग्लिश लैंग्वेज एंड लिटरेचर, मैथ्स बेसिक. कक्षा दसवीं के प्रमुख विषय हैं जिन तक नियमित रूप से परीक्षा आयोजित कराने के बारे में बोर्ड ने बताया है.

यह भी पढ़े -   देश का सबसे लंबा एक्सप्रेसवे मार्च 2023 तक बनकर हो जाएगा तैयार

कक्षा 12वीं के प्रमुख विषय- हिंदी इलेक्टिव, हिस्ट्री, पॉलिटिकल साइंस, ज्योग्राफी, इकोनॉमिक्स, साइकोलॉजी, सोशियोलॉजी, मैथ्स, फिजिक्स, केमिस्ट्री, बायोलॉजी, फिजिकल एजुकेशन, बिजनेस स्टडीज, अकाउंटेंसी, होम साइंस, इनफॉर्मेटिक्स प्रैक्टिस, कंप्यूटर साइंस न्यू, इंग्लिश कोर और हिंदी कोर शामिल है.

जानिए सीबीएसई फॉर्मेट में क्या हुआ बदलाव

इस वर्ष सीबीएसई की परीक्षाएं दो बार कराई जाएंगी. इन परीक्षाओं का पहला टर्म नवंबर- दिसंबर 2021 में प्रारंभ होना है. दूसरे टॉम की परीक्षाएं मार्च- अप्रैल 2022 में कराई जाएगी. इन दोनों टर्म परीक्षा में 50- 50% सिलेबस से प्रश्नपत्र तैयार किया जाएगा. फाइनल रिजल्ट दोनों परीक्षाओं के रिजल्ट को मिलाकर ही जारी किया जाने की सूचना है.

यह भी पढ़े -   अब कुल 65 रुपए प्रति लीटर पर दौड़ेगी आपकी गाड़ी, मोदी सरकार ने उठाया ये बड़ा कदम

जानिए होने वाली परीक्षाओं का स्वरूप

इस बार टर्म-1 की परीक्षाएं 90 मिनट की आयोजित की जाएगी जिसमें एमसीक्यू आधारित प्रश्न पत्र तैयार किया जाएगा. छात्रों को अपने जवाब को ओएमआर शीट पर भरना होगा. वही दूसरे टर्म की परीक्षाएं 2 घंटे की ली जाएगी. इसमें डिस्क्रिप्टिव प्रसन्न होंगे. इस का प्रश्नपत्र अलग फॉर्मेट में बनाया जाएगा. सीबीएसई ने यह बताया कि टर्म 2 में कुछ शार्ट और लॉन्ग दोनों तरह के प्रश्न हो सकते हैं. यदि आने वाले समय में कोरोना की स्थिति में कुछ बदलाव होता है. उसके अनुरूप परीक्षा के फॉर्मेट में भी बदलाव किया जा सकता है.

यह भी पढ़े -   दिल्ली के स्कूल फिर से होंगे बंद, कल से अगले आदेश तक नही खुलेंगे

यह सूचना सीबीएसई ने ट्विटर के माध्यम से जारी की है. परीक्षा के स्वरूप में बदलाव करने का मुख्य उद्देश्य विद्यार्थियों के समय को बचाना है. जिसके कारण स्वरूप इस बार दो टर्मो में सीबीएसई की परीक्षाएं आयोजित कराई जाने की सूचना दी है.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!