अब प्रदेश में आंधी तूफान में नहीं कटेगी बिजली, पेड़ो की कटाई करेंगे बिजली कर्मचारी

चंडीगढ़ । आंधी तूफान के बाद अक्सर प्रदेश के कई इलाकों में बिजली गुल हो जाते हैं. कई बार तो कई -कई दिनों तक बिजली नहीं आती. ऐसे में लोगों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है. बिजली सप्लाई की वजह से पेयजल सप्लाई भी ठप हो जाती है.

light

कांट्रेक्टर की ली जाएगी मदद 

बिजली विभाग अब इस समस्या से निजात पाने के लिए कॉन्ट्रैक्ट से संपर्क कर रहा है. ऐसा करने से जब भी बड़ी समस्या होगी, तो कांट्रेक्टर को तुरंत कर्मचारी उपलब्ध करवाने होंगे . ताकि बड़ी संख्या में पेड़ गिरने, खंभे गिरने या बिजली लाइन की ढह जाने की स्थिति में, समय रहते बिजली सप्लाई को सुचारू रूप से चालू किया जा सके. इसके लिए ठेकेदारों को कुछ राशि भी दी जाएगी. आम जनों की यही समस्याएं हैं कि 3 दिन हो गए बिजली नहीं आई है, जिसकी वजह से पानी सप्लाई भी ठप हो गई है .

यह भी पढ़े -   हरियाणा रोडवेज को लेकर परिवहन मंत्री ने दिया बड़ा बयान, बंद नहीं की जाएंगी बसें

 

ये होती है दिक्कत

कई बार आंधी या तूफान की वजह से एक बड़े या छोटे शहर में तकरीबन 50 से 70 जगहों पर पेड़ गिर जाते हैं, या बिजली के खंभे उखड़ जाते हैं. ऐसे में बिजली कर्मियों को काफी मेहनत करनी पड़ती है जिससे कि पूरे शहर की बिजली सप्लाई दोबारा से शुरू की जा सके. लेकिन 20 से 30 फ़ीसदी काम ही हो पाता है, शेष कार्य को पूरा करने में ज्यादा समय लगता है. ऐसे में प्राइवेट कांट्रेक्टर के साथ काम का ठेका देकर इस कार्य को जल्दी से पूरा किया जा सकेगा. आमजन को भी बिजली की समस्या का सामना नहीं करना पड़ेगा.

यह भी पढ़े -   मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने की प्रेस कांफ्रेंस, जारी किया पैकेज, जनता से की यह अपील, जाने

3 महीने रहती है ज्यादा दिक्कत

बता दे कि प्रदेश में अप्रैल, मई और जून में आंधी, तूफान आते रहते हैं. इस अवधि में सबसे अधिक बिजली बाधित होती है. क्योंकि बड़े पेड़ टूटकर बिजली की लाइनों पर गिर जाते हैं जिससे तार व खंभे बड़ी संख्या में टूट जाते हैं. बिजली विभाग को भी इस कारण काफी नुकसान होता है वही लोगों को भी समय पर बिजली नहीं मिल पाती. इस कार्य के लिए कांट्रेक्टर का सहारा लिया जाएगा जो फ़ॉल्ट को दूर करने में मदद करेंगे.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!