सिद्दू मूसेवाला मर्डर केस में जल्द हो सकता है खुलासा, 47 फोन नंबरों के जरिए हत्यारों के करीब पहुंची SIT

चंडीगढ़ | पंजाबी गायक सिद्दू मूसेवाला के गांव मूसा से 8 फोन कॉल्स और मनप्रीत सिंह से पूछताछ में सामने आया है कि 13 मोबाइल नंबरों समेत 47 संदिग्ध मोबाइल नंबरों के जरिए एसआईटी बहुत जल्द सिद्दू मूसेवाला के कातिलों तक पहुंच सकती है. मूसेवाला के गांव के मोबाइल टावरों की जांच के दौरान 8 ऐसी फोन कॉल्स का खुलासा हुआ है, जिनके तार बठिंडा और फिरोजपुर जेल से होने वाली फोन कॉल्स से जुड़े हैं. मूसेवाला गांव के तीन लोगों का इस मर्डर से कनेक्शन हो सकता है. तीनों से पूछताछ चल रही है. एसआईटी ने आशंका जताई है कि शार्प शूटर राजस्थान को छोड़कर गुजरात भाग सकते हैं.

यह भी पढ़े -   हिसार में बनेगा देश का सबसे अत्याधुनिक ग्रीन ईको फ्रेंडली श्मशान घाट, जानें खासियत

Sidhu Moose Wala

एसआईटी ने कहा है कि पुलिस की तीन टीमें गुजरात में लगातार छापेमारी कर रही है. उम्मीद जताई जा रही है कि एसआईटी बहुत जल्द सभी आरोपियों के नाम उजागर कर देगी. एंटी टास्क गैंगस्टर फोर्स जेलों के मोबाइल टावरों की लोकेशन की जांच की जा रही है. एसआईटी का कहना है कि सख्ती के बावजूद गैंगस्टर जेलों से मोबाइल ऑपरेट कर रहे हैं. पटियाला, लुधियाना, फरीदकोट, भटिंडा और फिरोजपुर की जेलों में बंद गैंगस्टर्स की भूमिका सामने आ रही है. इनसे एंटी गैंगस्टर टास्क फोर्स जल्द पूछताछ करेगी.

गैंगस्टर सचिन का बड़ा दावा

तिहाड़ जेल में बंद लारेंस बिश्नोई के भांजे सचिन बिश्नोई ने दावा किया है कि सिद्दू मूसेवाला का मर्डर उसी ने किया है. एक चैनल से बातचीत में उसने दावा करते हुए कहा है कि मैंने खुद सिद्दू मूसेवाला को गोलियां मारी है. यह हत्या विक्की मिड्डूखेड़ा की मौत का बदला है. सचिन ने आरोप लगाया कि गुरलाल बराड़ की हत्या के पीछे सिद्दू मूसेवाला का हाथ था. हालांकि सचिन बिश्नोई के दावे की अभी तक किसी ने पुष्टि नहीं की.

यह भी पढ़े -   हरियाणा के इन जिलों में अगले तीन घण्टों में होगी बारिश, जाने जिलों के नाम

पोस्टमार्टम रिपोर्ट आई सामने

मर्डर के तीन दिन बाद सिद्दू मूसेवाला की पोस्टमार्टम रिपोर्ट आ गई है. रिपोर्ट के अनुसार हमले के 15 मिनट बाद ही सिद्दू मूसेवाला की मौत हो गई थी. शरीर पर 19 गोलियों के निशान मिले हैं. छाती से लेकर पेट तक 8 गोलियां लगी हैं. लिवर फटने से शरीर के अंदर खून जमा हो गया था. रिपोर्ट के अनुसार, बुलेट के हेमोरेजिक शॉक से आक्सीजन नहीं मिलने पर बॉडी सेल खत्म होने लगते हैं. लगातार खून बहने के कारण अस्पताल पहुंचने से काफी समय पहले ही सिद्दू मूसेवाला की मौत हो चुकी थी.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!