अनिल विज का कोरोना को लेकर बड़ा बयान, बोले- समय आने पर करेंगे सब का हिसाब, देख रहा हूं कौन…

चंडीगढ़ | हरियाणा में कोरोना संक्रमण का दौर खत्म होने का नाम ही नहीं ले रहा है. फिलहाल हरियाणा राज्य में 1 लाख से भी ज्यादा एक्टिव मरीज हैं. और यह आंकड़ा दिनों दिन बढ़ता जा रहा है. केंद्र और राज्य सरकारों की पुरजोर कोशिशों के बावजूद संक्रमण की चेन टूट नहीं पा रही है. राज्य सरकार ने कड़ा कदम उठाते हुए 3 मई से 1 सप्ताह के लिए लॉकडाउन की घोषणा कर दी है. ऐसे में स्वास्थ्य मंत्री श्री अनिल विज मौजूदा परिस्थितियों को देखकर काफी भावुक नजर आए.

anil vij

ट्विटर पर भी श्री अनिल विज ने एक पोस्ट शेयर की है जिसमें उन्होंने साफ साफ शब्दों में बताया है कि जो लोग लापरवाही कर रहे हैं वो उनकी नजर में हैं और समय आने पर उनका सब का हिसाब किया जाएगा.

गौरतलब है कि मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल खट्टर, उनके कैबिनेट मंत्री और सभी आला अधिकारियों को सरकार ने फील्ड में उतार दिया है. जिन की कमान खुद मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल खट्टर ने संभाली हुई है. ऐसे में स्वास्थ्य और गृह मंत्री श्री अनिल विज लगातार मरीजों के हालातों और चिकित्सा संबंधी आवश्यकताओं की लगातार मॉनिटरिंग कर रहे हैं. गाहे-बगाहे जो मुनाफाखोरी और कालाबाजारी की घटनाए मिल रही है उस पर स्वास्थ्य मंत्री श्री अनिल विज बहुत ज्यादा नाराज नजर आए.

यह भी पढ़े -    लॉकडाउन में बाहर घूमने वालों की अब नहीं खैर, सख्ती से निपटने के आदेश जारी

कालाबाजारी करने वालों पर होगी कड़ी कार्रवाई

श्री अनिल विज ने सख्ती दिखाते हुए कड़ा संदेश दिया है कि जो भी प्राइवेट अस्पताल या कोई भी व्यक्ति किसी भी मरीज से मनमाने दाम वसूलने की कोशिश करेगा, तो सख्त से सख्त कार्रवाई,जो वो कर पाएंगे वह अमल में लाई जाएगी. इससे पहले अनिल विज ने कहा था कि मजबूरीवश सरकार को लॉक डाउन की घोषणा करनी पड़ी थी.सरकार की मंशा नहीं थी कि इस तरीके के कड़े कदम उठाए जाएं कि राज्य को लॉकडाउन के बंधन में बांध दिया जाए. लेकिन लोगों ने कोविड-19 के नियमों का पालन नहीं किया जिससे संक्रमण की चेंज नहीं टूट पाई और अंत में सरकार को ऐसा सख्त कदम उठाना पड़ा.

यह भी पढ़े -   वैक्सीन लगवाने से 48 घंटे पहले व बाद में न करे ये काम, नहीं तो बाद में पड़ सकता है पछताना

समय आने पर करेंगे सब का हिसाब

इस दौरान स्वास्थ्य और गृह मंत्री अनिल विज का रुख काफी सख्त नजर आया. उनके अनुसार सरकार के कई विभाग है जो अपनी जिम्मेदारियों को सही ढंग से नहीं निभा रहे हैं. उन्होंने कहा कि जो कुछ भी हो रहा है वह उनकी नजरों के सामने हैं और समय आने पर उन सब का हिसाब किया जाएगा.

क्या संक्रमण का कारण दिल्ली है?

अनिल विज ने कहा कि शुरुआती दिनों में दिल्ली से सटे गुरुग्राम,फरीदाबाद और सोनीपत से ज्यादा संख्या में मरीज आ रहे थे लेकिन अब सभी जगह से संक्रमण फैलता जा रहा है. देखा जाए तो लगभग 70 से 80 फ़ीसदी मरीज इन अस्पतालों में दिल्ली से ही हैं.

ऑक्सीजन की कमी पर क्या बोले श्री अनिल विज

अनिल विज ने माना कि फिलहाल हरियाणा में ऑक्सीजन की कमी है जितनी ऑक्सीजन की जरूरत है उतनी हरियाणा को नहीं मिल पा रही है. स्वास्थ्य विभाग की टीम सारा दिन इस बारे में मॉनिटरिंग लगातार करती है. कहीं भी अगर थोड़ी सी भी दिक्कत आती है तो उसको उसी समय पूरा करने की कोशिश की जाती है.

यह भी पढ़े -   इस बार गांवों में भी घुसा कोरोना, 22 गांवों में बनाएं माइक्रो कंटेनमेंट जोन

इसके इतर मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल खट्टर का मत स्वास्थ्य मंत्री से थोड़ा अलग है. सोमवार को ही रेवाड़ी में मुख्यमंत्री ने कहा था कि हरियाणा में ऑक्सीजन की कोई कमी नहीं है. जो कमी थी उसे पूरा कर दिया गया है.

ऑक्सीजन की कमी से हुई मौतों का कौन है जिम्मेदार?

गत दिनों ऑक्सीजन की कमी से जिन मरीजों की मृत्यु हुई है उसके लिए श्री अनिल विज ने कहा कि जो भी दोषी पाया जाएगा,उसको सजा दी जाएगी.जांच कमेटियां बैठा दी गई है.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!