50 हजार की वार्षिक आय वाले परिवारों की मुख्यमंत्री अंतोदय परिवार योजना के तहत बढ़ेगी आमदनी

चंडीगढ़ | हरियाणा के मुख्यमंत्री खट्टर ने कहा कि प्रदेश में 50 हजार रुपए वार्षिक आय वाले 1 लाख लोगों की आमदनी को बढ़ाया जाएगा. इन परिवारों को आर्थिक रूप से मजबूत  बनाया जाएगा.  खट्टर ने कहा कि ऐसे एक लाख परिवारों का आय का स्तर 1 लाख 80 हजार रुपए तक किए जाने की योजना तैयार की गई है, जिसका नाम ‘मुख्यमंत्री अंत्योदय परिवार योजना’ है.

bhudapa pension

दरअसल, नई दिल्ली में आयोजित ‘अंतरराष्ट्रीय वैश्य महासम्मेलन’ के सायंकालीन सत्र में  अभिनंदन समारोह को संबोधित करते हुए हरियााणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने समाज के वंचित वर्ग के उत्थान व कल्याण के लिए वैश्य समाज से सक्रिय योगदान का आह्वान किया. मुख्यमंत्री ने कहा कि  वैश्य समाज ने व्यापार, व्यवसाय व उद्योग को विस्तार देकर देश की अर्थव्यवस्था में महत्वपूर्ण योगदान दिया है.

यह भी पढ़े -   आंदोलनरत आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को हरियाणा सरकार की बड़ी सौगातें, इन मांगों पर बनीं सहमति

हरियाणा के मुख्यमंत्री ने कहा कि हरियाणा राज्य में 11 लाख परिवारों की वार्षिक आय 50 हजार रुपए तक है. प्राथमिक प्रयासों की दिशा में 50 हजार रुपए वार्षिक आय वाले 11 लाख परिवारों में से प्रारंभ में एक लाख परिवारों की आय का स्तर 1 लाख 80 हजार रुपये तक किए जाने की ‘मुख्यमंत्री अंत्योदय परिवार योजना’ के अंतर्गत योजना तैयार की गई है.

मुख्यमंत्री ने कहा कि महाराजा अग्रसेन द्वारा प्रशस्त किए गए मार्ग का अनुसरण करते हुए वैश्य समाज ने सदैव समाज के वंचित वर्ग के उत्थान में अपना योगदान किया है. सरकार भी ‘सबका साथ- सबका विकास, सबका विश्वास-सबका प्रयास’ के सिद्धांत पर अग्रसर होते हुए विकास को नई दिशाएं दे रही है.

‘अंतरराष्ट्रीय वैश्य महासम्मेलन’ को संबोधित करते हुए हरियाणा विधानसभा अध्यक्ष ज्ञानचंद गुप्ता ने अपने संबोधन में कहा कि अंतरराष्ट्रीय वैश्य फैडरेशन द्वारा समाजसेवा का कार्य सेवाभाव से आगे बढ़ाया जा रहा है. जिस प्रकार से किसान वर्ग अन्न उत्पन्न कर सभी का पोषण करता है, उसी प्रकार से वैश्य समाज और देश की अर्थव्यवस्था का पोषण करता है.

यह भी पढ़े -   चंडीगढ़ के टूरिस्ट प्लेस पर घूमने की है इच्छा, तो डबल डेकर बस केवल 50 रुपए में दिलाएगी विदेश जैसी फीलिंग

योजना की पूरी जानकारी

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि 50 हजार रूपए वार्षिक आय वाले हरियाणा राज्य के 1 लाख परिवारों की आय का स्तर 1 लाख 80 हजार रूपए तक  किए जाने की मुख्यमंत्री अंत्योदय परिवार योजना के अंतर्गत योजना तैयार की है. नई दिल्ली में एक कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने समाज के वंचित वर्ग के उत्थान व कल्याण के लिए वैश्य समाज से सक्रिय योगदान का आह्वान किया. साथ ही कहा कि  वैश्य समाज ने व्यापार, व्यवसाय व उद्योग को विस्तार देकर देश की अर्थव्यवस्था में महत्वपूर्ण योगदान दिया है.

यह भी पढ़े -   जल्द 500 नई बसें खरीदेगा परिवहन विभाग, परिवहन मंत्री ने दी जानकारी

हरियाणा के मुख्यमंत्री ने कहा कि हरियाणा राज्य में 11 लाख परिवारों की वार्षिक आय 50 हजार रूपए है. प्राथमिक प्रयासों की दिशा में 50 हजार रूपए वार्षिक आय वाले 11 लाख परिवारों में से प्रारंभ मे 01 लाख परिवारों की आय का स्तर  01 लाख 80 हजार रूपये तक किए जाने की मुख्यमंत्री अंत्योदय परिवार योजना के अंतर्गत योजना तैयार की है. मुख्यमंत्री ने कहा कि महाराजा अग्रसेन द्वारा प्रशस्त किए गए मार्ग का अनुसरण करते हुए वैश्य समाज ने सदैव समाज के वंचित वर्ग के उत्थान में अपना योगदान किया है. सरकार भी सबका साथ- सबका विकास, सबका विश्वास-सबका प्रयास के सिद्धांत पर अग्रसर होते हुए विकास को नई दिशाएं दे रही है.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!