35 बार हुएं असफल, फिर IPS बन पेश की मिसाल; जानिए विजय वर्धन के संघर्ष की दास्तान

सिरसा । कभी -कभी कोई इंसान जब सफलता पाने के लिए जी-तोड़ मेहनत करता है और तब भी भाग्य उसका साथ नहीं देता तो उसका हौसला ज़बाब देने लगता है. लेकिन आज हम जिस शख्सियत की बात कर रहे हैं ,वो एक नजीर है, ऐसे लोगों के लिए जिनका अटूट हौसला समाज के लिए नजीर बन गया था. हम बात कर रहे हैं 35 परीक्षाओं में फेल होकर IPS अफसर बनने वाले विजय वर्धन की.

harshwrdhan ips
मूल रूप से हरियाणा के सिरसा जिले के रहने वाले विजय वर्धन की कहानी बेहद ही प्रेरणा दायक है. सिरसा में शुरुआती शिक्षा हासिल करने के बाद विजय वर्धन हायर स्टडीज के लिए हिसार चले आए. इलेक्ट्रॉनिक्स में इंजिनियरिंग की पढ़ाई करने वाले विजय वर्धन ने सिविल सर्विस ज्वाइन करने का सपना बनाया. लेकिन अपनी इस चाहत को मुकाम तक पहुंचाने के दौरान उनके रास्ते में कई असफलताएं आई,पर वो अपने लक्ष्य से कभी नहीं डिगें.

यह भी पढ़े -   प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना की आठवीं किस्त जारी, प्रधानमंत्री ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए बेहजी रकम

यूपीएससी की तैयारी करने के लिए हिसार से दिल्ली आएं विजय वर्धन ने इस प्रतिष्ठित परीक्षा को पास करने के लिए जी-तोड़ मेहनत की. यूपीएससी की तैयारी के दौरान विजय वर्धन ने हरियाणा पीसीएस, यूपी पीसीएस, एसएससी सीजीएल जैसी करीब 30 अलग-अलग परीक्षाएं दी और इन परीक्षाओं में वो फेल हो गए.

यह भी पढ़े -   विरोध करते रह गए आंदोलनकारी, सीएम मनोहर लाल ने हिसार में 500 बेड के अस्थाई कोविड अस्पताल का किया शुभारंभ

ए और बी ग्रेड की लगभग 30 परीक्षाओं में मुंह की खाने के बाद भी विजय वर्धन का हौसला टस से मस नहीं हुआ. इसके बाद विजय वर्धन ने साल 2014 से यूपीएससी की परीक्षा देने की शुरुआत की. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक साल 2014-15 में विजय केवल प्री परीक्षा ही पास कर पाएं. तीसरी बार विजय ने अपनी तैयारियों का रुख बदला और फाइनल भी पास कर गए. लेकिन केवल 06 अंक से मुख्य सूची में आने से रह गए. 2017 में दी परीक्षा के दौरान साक्षात्कार तक पहुंचें लेकिन सफलता अभ भी उनके कदम नहीं चुम पा रही थी.

यह भी पढ़े -   हरियाणा में खानपान से 99% लोगों ने हराया कोरोना, इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए इन चीजों का करे सेवन

विजय और आस-पास रहने वाले लोगों ने विजय को यूपीएससी की उम्मीद छोड़ देने को कहा , लेकिन विजय उनकी बातों को इग्नोर कर अपनी तैयारियों में जुटे रहे. साल 2018 में वो समय भी आया,जब विजय को उनकी मंजिल मिलीं. विजय वर्धन को यूपीएससी की परीक्षा में 104 वीं रैंक हासिल हुईं.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!