CBSE ने बदला कक्षा 9वीं से 12वीं का पेपर पैटर्न, जाने क्या होगा नया पेपर पैटर्न

नई दिल्ली । सत्र 2021-22 सीबीएसई (CBSE) ने परीक्षा पैटर्न में बड़ा बदलाव कर दिया है. ये बदलाव कक्षा 9वीं,10वीं,11वीं तथा 12वीं कक्षाओं के लिए लागू किया गया है. सीबीएसई (CBSE) बोर्ड के ट्रेनिंग एंड स्किल डेवलपमेंट विभाग के निदेशक विश्वजीत साहा इस बात की पुष्टि की. उन्होंने बताया कि यह बदला हुआ पैटर्न सत्र 2021-22 की सीबीएसई की वार्षिक परीक्षाओं में लागू हो जाएगा.

CBSE

आगामी वार्षिक परीक्षाओं के पैटर्न को लेकर विश्वजीत साह ने बताया ” नई मूल्यांकन प्रक्रिया कम्पीटेन्सी बेस्ड एजुकेशन को बढ़ावा देने के लिए बनाई गई है इसमें परीक्षा के ओवरऑल मार्क्स और समय में कोई बदलाव नहीं है. ”

यह भी पढ़े -   CBSE: दसवीं कक्षा का परिणाम इस दिन होगा घोषित, जाने पास फार्मूला

 9वीं तथा 11वीं के लिए यह रहेगा पैटर्न

सत्र 2021-22 की वार्षिक परीक्षाओं के लिए क्लास 9वी तथा 12वीं की परीक्षा में कम्पीटेन्सी बेस्ड प्रश्नों की संख्या अब 30 कर दी गई है. इससे पहले की परीक्षाओं में इस प्रकार के प्रश्नों की संख्या 20 होती थी. अबकी बार इनमें मल्टीपल चॉइस,केस आधारित और कोर्स आधारित इंटीग्रेटेड प्रश्नन पूछे जाएंगे. पूरे प्रश्ननपत्र का 20% भाग ऑब्जेक्टिव टाइप प्रश्नों का होगा. एक और बदलाव इसमें किया गया है. जिसके अनुसार शॉर्ट और लोंग आंसर टाइप प्रश्नों की संख्या को घटाकर 50% कर दिया गया है.

यह भी पढ़े -   अभिभावकों को बड़ी राहत, अब निजी स्कूल छात्रों पर नहीं थोप सकेंगे प्राइवेट पुस्तक

 11वीं तथा 12वीं में हुआ यह बदलाव

जैसा अब से पहले के सत्रों में होता आया है उसी प्रकार कक्षा ग्यारहवीं और बारहवीं में अब की बार भी कम्पीटेन्सी बेस्ड प्रश्न 20% होंगे, लेकिन इसमें एक बदलाव किया गया है कि ऑब्जेक्टिव टाइप सवाल जो पहले 10% तक आते थे अब उनकी संख्या को 20% तक कर दिया गया है. वही बात करेंगे शॉर्ट और लोंग आंसर टाइप की, जो अब से पहले के सत्रों में 70% तक आते थे अबकी बार उनकी संख्या को घटाकर 60% तक कर दिया गया है.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!