हरियाणा में डॉक्टरों की हड़ताल 31 दिसंबर तक टली, सरकार करेगी मांगों पर विचार

अंबाला । डॉक्टरों की 13 दिसंबर को राज्य में हड़ताल होनी थी. HCMS एसोसिएशन ने अपनी मांगों, विशेषज्ञ कैडर का सृजन, स्नातकोत्तर नीति में संशोधन और एसएमओ की सीधी भर्ती पर रोक को लेकर 13 दिसंबर 2021 से राज्यव्यापी हड़ताल का आह्वान किया था. हरियाणा सिविल मेडिकल सर्विसेज एसोसिएशन के आह्वान पर आज होने वाली हड़ताल स्थगित हो गई है.

anil vij 2

हरियाणा सरकार को सिविल मेडिकल एसोसिएशन की ओर से विभिन्न लंबित मांगों को लेकर 13 दिसंबर को हड़ताल की चेतावनी मिली थी. बकायदा मांगें पूरी ना होने पर 14 दिसंबर से आंदोलन का ऐलान भी किया था. स्वास्थ्य विभाग ने डॉक्टरों को मनाने की पूरी कोशिश की. काफी प्रयास के बाद भी जब डाक्टर आंदोलन वापस लेने को तैयार नहीं हुए तो रविवार को गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने हरियाणा सिविल मेडिकल सर्विसेज एसोसिएशन के प्रतिनिधिमंडल से बातचीत की.

बैठक अंबाला कैंट के PWD रेस्ट हाउस में हुई. एसोसिएशन पदाधिकारियों ने अपनी मांगें रखीं, साथ ही चंडीगढ़ में हुई बैठक के दौरान ACS के रवैये को लेकर भी स्वास्थ्य मंत्री से शिकायत की गई. स्वास्थ्य मंत्री ने मुख्यमंत्री से बातचीत कर सहायता और समाधान करने की बात कही. इसके बाद डॉक्टरों के प्रतिनिधि मंडल ने हड़ताल को टालने का निर्णय लिया. बैठक में हरियाणा सिविल मेडिकल सर्विसेज एसोसिएशन के राज्य प्रधान डा. जसबीर सिंह परमार, स्वास्थ्य निदेशक डॉ. वीना सिंह मौजूद थे.

यह भी पढ़े -   सरकार से टकराव पर उतरा भर्ती माफिया, HSSC चैयरमेन समेत अधिकारियों को गोली मारने की धमकी

क्या थीं डॉक्टरों की मांगे ?

पहली मांग-सीधी भर्ती पर रोक लगनी चाहिए.
दूसरी मांग-डाक्टरों की ओर से स्पेशलिस्ट के खाली पद भरने और पोस्ट ग्रेजुएशन पॉलिसी में संशोधन की मांग.
तीसरी मांग-प्रदेश में विशेषज्ञ चिकित्सकों के 1300 खाली पदों को भरने की मांग.

गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज से के साथ बैठक के बाद हड़ताल को 31 दिसंबर तक टालने का फैसला लिया है. आंदोलन पर आगे का फैसला अब 31 दिसंबर के बाद ही होगा

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!