आशा वर्करों को हरियाणा सरकार का तोहफा, इस योजना के तहत मिलेगा 5 लाख तक मुफ्त इलाज

चंडीगढ़ । हरियाणा में आशा वर्करों के लिए एक बेहद ही खुशी भरी खबर है. प्रदेश सरकार आशा वर्करों को आयुष्मान भारत योजना के तहत कवर करने की दिशा में तैयारी शुरू कर दी हैं. इससे वह हर साल 5 लाख रुपए तक का मुफ्त इलाज का लाभ उठा सकेगी. सूबे के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने विभागीय अधिकारियों को इस विषय पर अध्ययन कर जल्द रिपोर्ट पेश करने के आदेश दिए हैं.

यह भी पढ़े -   कुरुक्षेत्र के इस स्कूल में बनेगी जिलें की पहली गणित लैब, जानें क्या मिलेंगी सुविधाएं

AASHA WORKER

आशा वर्करों के प्रतिनिधिमंडल के साथ हुई मीटिंग में अनिल विज ने कहा कि 10 साल तक काम करने के बाद जो आशा वर्कर स्वैच्छिक तौर पर अपना काम छोड़ती है या 60 वर्ष की आयु के बाद रिटायर हो जाती है उन्हें 20 हजार रुपए की राशि एकमुश्त प्रदान की जाएगी.

स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि आंगनबाड़ी वर्कर और आशा वर्कर का एक तुलनात्मक अध्ययन कर उसकी रिपोर्ट प्रस्तुत की जाए. उन्होंने कहा कि आशा वर्करों को जल्द ही रिकार्ड मेंटेनेंस के लिए आशा की गतिविधियों के लिए रजिस्टर उपलब्ध करवा दिए जाए. विज ने कहा कि कोरोना महामारी के दौर में आशा वर्करों के योगदान को बुलाया नहीं जा सकता है. उन्होंने घर-घर जाकर कोरोना संक्रमित लोगों की देखभाल करने में अहम भूमिका निभाई है.

यह भी पढ़े -   हरियाणा में 9वीं से 12वीं के विद्यार्थियों को मिलेंगे मुफ्त टैबलेट, जानिये पूरी खबर

उन्हाेंने कहा कि 20 हजार 12 आशा वर्करों की सूची उनके परिवार पहचान पत्र के साथ नागरिक संसाधन सूचना विभाग को सत्यापन के लिए दी गई है. जैसे ही सभी आशा वर्करों के डाटा को नागरिक संसाधन सूचना विभाग द्वारा तैयार किए जा रहे यूटिलिटी माड्यूल में सत्यापित कर दिया जाएगा, आशा वर्करों के बैंक खातों में पांच हजार रुपये की प्रोत्साहन राशि डाल दी जाएगी.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!