हरियाणा के स्कूलों में फ्री टैबलेट वितरण की गाइडलाइंस जारी, 14355 स्कूलों को मिलेगा टैबलेट

पंचकूला | कोरोना महामारी के हरियाणा राज्य में स्कूलों को बंद करने का फैसला लिया गया. जिसके बाद ऑनलाइन माध्यमों से स्कूली विद्यार्थियों की पढ़ाई होने लगी. ऑनलाइन पढ़ाई को बढ़ावा देते हुए हरियाणा की मनोहर सरकार ने पिछले साल नवंबर में स्कूली छात्र-छात्राओं को फ्री टैबलेट देने की घोषणा की. जिनके वितरण के लिए अब गाइडलाइन से जारी कर दी गई है.

STUDENT WITH MOBILE

मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने 28 नवंबर 2020 को ‘हरियाणा टैबलेट योजना 2021 योजना’ की शुरुआत की. इस योजना के तहत सरकार ने फैसला लिया की राज्य के सरकारी स्कूलों में पढऩे वाले कक्षा 8वीं से 12वीं तक के सभी छात्रों को मुफ्त टैबलेट (टैब) वितरित किए जाएंगे. शिक्षण सामग्री और पाठ्यपुस्तकों से प्री-लॉडिड कंटेंट के साथ 8.20 लाख टैब छात्र-छात्राओं को वितरित होंगे. जिससे छात्रों के सीखने की क्षमता में वृद्धि होगी और वे कक्षा में व बाहर तथा घर पर भी ऑनलाइन पढ़ाई कर सकेंगे.

यह भी पढ़े -   रोजगार विभाग हरियाणा में अब प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करवाएगा, ग्रामीण युवाओ का अधिक रुझान

योजना की घोषणा करते समय सरकार की ओर से कहा गया था कि नए शैक्षणिक सत्र की शुरुआत में ही विद्यार्थियों को टैबलेट वितरित कर दिए जाएंगे. गौरतलब है कि अप्रैल महीने से ही आठवीं से लेकर 12वीं तक के विद्यार्थियों के नए शैक्षणिक सत्र की शुरुआत हो चुकी है और अभी तक टैबलेट वितरित नहीं हुए हैं. लेकिन अब सरकार द्वारा टैबलेट वितरण को लेकर गाइडलाइंस जारी कर दी गई है.

सरकार ने प्रदेश के सरकारी स्कूलों में 14355 टैबलेट वितरण के लिए गाइडलाइंस जारी की है. जारी गाइडलाइंस के मुताबिक, हार्ट्रॉन द्वारा एचएसएसपीपी के निर्देश के बाद इलेक्ट्रो फोटो इक्विपमेंट्स प्राइवेट लिमिटेड कंपनी से 14355 टैबलेट डिवाइस खरीदे गए हैं.टैबलेट वितरण के लिए जिला व ब्लाक के अनुसार 14355 स्कूलों की सूची तैयार की गई है. प्रत्येक जिले में टैबलेट से भरे सीलबंद बॉक्स पहुंचाई जाएंगे. इन बक्सों को डिलीवरी चालान के अनुसार काउंट करके डीपीसी द्वारा प्राप्त किया जाएगा.

यह भी पढ़े -   सीएम खट्टर की बड़ी घोषणा, हरियाणा सरकार ई-वाहन खरीदने पर देगी सब्सिडी

सीलबंद बॉक्स में प्राप्त टैबलेट डिवाइसों की संख्या को स्टॉक रजिस्टर में दर्ज किया जाएगा. सही संख्या प्राप्त होने पर डीसीपी संबंधित ब्लॉक संसाधन समन्वयक को डिवाइसों को सौंप देगा. जिसके बाद ब्लॉक स्तर के अधिकारियों द्वारा तीन स्कूलों की एक समिति गठित की जाएगी. जो स्कूलों की सूची के अनुसार टेबलेट वितरण में सहायता करेगी. जिसके बाद बीआरसी की अध्यक्षता में ब्लॉक स्तरीय समिति स्कूल के प्रमुखों/प्रभारी को टेबलेट वितरित किए जाएंगे.

यह भी पढ़े -   हरियाणा गृह विभाग से कर्मचारी कर रहा था कागज लीक, अनिल विज ने रंगे हाथों पकड़ा

स्कूलों को टैबलेट वितरण के समय रसीद तैयार की जाएगी जिसमें स्कूल का नाम, संस्था के मुखिया का नाम, उसके कर्मचारी आईडी और मोबाइल नंबर और उसके हस्ताक्षर होंगे. जिसका लेखा जोखा संरक्षित रखा जाएगा.स्कूल प्रमुख/प्रभारी समय-समय पर जारी निर्देशों के आधार पर विभाग द्वारा सौंपी जाने वाली विभिन्न गतिविधियों जैसे एमआईएस डेटा, यूडीआईएसई+ डेटा, अवसर/दीक्षा ऐप का उपयोग आदि के उपयोग के लिए डिवाइस अपने पास रखेंगे.डिवाइस की स्टॉक एंट्री स्कूल स्तर पर रखी जाएगी और डिवाइस स्कूल के प्रमुख/प्रभारी के नाम पर जारी किया जाएगा.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!