हरियाणा मे फिर बढ़ने लगे कोरोना के मरीज, गुरुग्राम में है सबसे ज्यादा एक्टिव केस

चंडीगढ़ । त्योहारी मौसम में अचानक कोरोना मरीजो का ग्राफ बढ़ने लगा है. बता दें कि नवरात्रों के समाप्त होने के बाद नए संक्रमितों केस मिलने की दर में उछाल आया है. इसका कारण सार्वजनिक स्थलों पर बढ़ती भीड़ और महामारी से बचाव के प्रति लोगों की लापरवाही है. सरकार ने उपायुक्तों को सख्ती बरतने के निर्देश दिए है. स्थानीय निकायो और पुलिस अधिकारियों को टीमें बनाकर औचक निरीक्षण कर लापरवाह लोगों के चालान काटने के निर्देश दिए गए हैं.

यह भी पढ़े -   हरियाणा के मुख्यमंत्री ने दिया MSP पर बयान, गारंटी कानून बनाना संभव नहीं

corona test 3

स्वास्थ्य विभाग पर दोहरी मार

हरियाणा में इन दिनों डेंगू का भी प्रकोप है, लगातार डेंगू के मरीज बढ़ते जा रहे हैं. जिस वजह से स्वास्थ्य विभाग को दोहरे मोर्चे पर जूझना पड़ रहा है. ऐसे में कोरोना मरीजों का बढ़ता ग्राफ मुश्किलें बढ़ा सकता है. गुरुग्राम में लगातार कोरोना के नए मामले सामने आ रहे हैं. इस वजह से स्वास्थ्य विभाग कोई जोखिम नहीं उठाना चाहता. मुख्यमंत्री मनोहर लाल खुद भी लगातार बैठकों की समीक्षा कर रहे हैं. इसके अलावा गृह और स्वास्थ्य सचिव राजीव अरोड़ा लगातार फील्ड में जाकर उपायुक्त और सिविल सर्जनों के साथ विभिन्न जिलों में इंतजामों की समीक्षा कर रहे हैं. बता दें कि मौजूदा समय में गुरुग्राम में सर्वाधिक एक्टिव केस है.

यह भी पढ़े -   हरियाणा में मंत्रिमंडल विस्तार 4 से 17 दिसंबर के बीच होने की संभावना, सीएम जल्द ले सकते हैं फैसला

वही सोनीपत, पानीपत, भिवानी, महेंद्रगढ़, झज्जर,फतेहाबाद,चरखी दादरी में कोई भी कोरोना मरीज नहीं है. फरीदाबाद- पंचकूला -यमुनानगर में सात सात, रोहतक में छह, अंबाला में पांच, कैथल और जींद में तीन,करनाल – कुरुक्षेत्र में दो, हिसार -सिरसा- रेवाड़ी में एक-एक एक्टिव केस है. स्वास्थ्य विशेषज्ञों के अनुसार अक्टूबर-नवंबर दिसंबर के 3 महीने अगर शांति से गुजर जाए तो कोरोना की तीसरी लहर का खतरा काफी हद तक कम हो जाएगा.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!