अब ऑनलाइन मिलेगा स्कूल लीविंग सर्टिफिकेट, इस ऐप पर करना होगा आवेदन

कैथल । कोरोना संक्रमण प्रभाव पर काबू पाने हेतु लगें लॉकडाउन के चलते बंद पड़े स्कूल आखिरकार एक जून यानि मंगलवार से खुल गए हैं. हालांकि अभी के लिए बच्चों के स्कूल न आने की अनुमति के चलते पढ़ाई का दौर शुरू नहीं हुआ है और स्कूलों में केवल स्टॉफ सदस्यों को ही बुलाया गया है. स्कूलों में स्टॉफ सदस्यों को रोस्टर प्रणाली के तहत बुलाया जा रहा है.

यह भी पढ़े -   छात्रों को मुफ्त कोचिंग का मौका, हिसार और कुरुक्षेत्र में खोले जाएंगे Super 100 कोचिंग सेंटर

school student

ऐसे में कोरोनावायरस को लेकर शिक्षा विभाग ने विधार्थियों के लिए ऑनलाइन स्कूल लीविंग सर्टिफिकेट की सुविधा दी गई हैं. सरकार की इस पहल से विधार्थियों को अब एसएलसी के लिए स्कूलों के चक्कर लगाने की जरूरत नहीं पड़ेगी. एसएलसी की सुविधा विभाग द्वारा जारी ‘अवसर ऐप’ पर उपलब्ध रहेगी. स्कूलों में स्टॉफ सदस्य अवसर ऐप द्वारा जारी रिपोर्ट को कक्षा इंचार्ज एवं मुखिया के हस्ताक्षर के उपरांत बच्चों तक पहुंचाने का काम करेंगे. इसी के साथ विधार्थियों को आवश्यकता अनुसार एसएलसी ऑनलाइन देने का कार्य किया जाएगा.

नामांकन व दाखिला संबंधी कार्य करेंगे स्टॉफ

स्टाफ सदस्य स्कूलों में विद्यार्थियों के दाखिले के साथ-साथ संख्या के आधार पर अनुभाग बनाने का काम करेंगे. जिससे बच्चों को विषयों के आधार पर बांटा जा सके. इसी के साथ एमआईएस पोर्टल एवं अवसर ऐप पर विषय, संकाय, सेक्शन की टैगिंग का काम भी जारी रहेगा. इसी के साथ विधार्थियों को पारस्परिक आदान-प्रदान से पुस्तकें दिलाने में मदद की जाएगी तथा साथ ही पुस्तकों का पूरा रिकॉर्ड स्टाफ द्वारा किया जाएगा. जिससे पुस्तकें उपलब्ध होने पर विधार्थियों तक पहुंचाई जा सकें.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!