देशभर में कैंसर रोगियों के बेहतर इलाज के लिए तैयार हो रहे अस्पताल, केन्द्र और राज्य सरकार दे रही मदद – राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय

फरीदाबाद | रविवार को फरीदाबाद सेक्टर-8 सर्वोदय अस्तपाल एवं रिसर्च सेंटर में आयोजित इंडियन सोसाइटी आफ ओन्कोलाजी की दो दिवसीय वार्षिक कान्फ्रेंस इनोवेशन इन ओन्कोलाजी समाप्त हो गई. आयोजित संगोष्ठी के दौरान हरियाणा के राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय कैंसर की बीमारी को लेकर कई महत्वपूर्ण बातें कही. राज्यपाल ने बताया केंद्र और राज्य सरकार की ओर से कैंसर के बेहतर इलाज के लिए काफी मदद और प्रयास किए जा रहे है. इसके अलावा प्रधानमंत्री स्वास्थ्य सुरक्षा योजना (PMSSY) के तहत, देश भर में आधुनिक चिकित्सा देखभाल के साथ 90 कैंसर उपचार अस्पताल स्थापित किए गए हैं. इसके अलावा झज्जर और कोलकाता में कैंसर के इलाज के लिए सुविधाएं एवम इंफ्रास्ट्रक्चर तैयार किया जा रहा है.ताकि कैंसर के रोगियों को बेहतर इलाज मिले इसके लिए पूरा प्रयास किया जा रहा है.

यह भी पढ़े -   HSSC: नॉर्मलाईजेशन का फैसला सही, जल्द जारी होगा अटके हुए भर्तियों का परिणाम

haryana new rajaypal 2

उन्होंने कहा -“आज देश मे कैंसर के करीब 13 लाख से अधिक मरीज हैं। इन रोग का मुख्य कारण अस्वस्थ जीवन शैली, प्रदूषण समेत अन्य कई वजहें है, दत्तात्रेय ने डॉक्टरों से कहा -“मरीजों के साथ अच्छा व्यवहार करें क्यूंकि डॉक्टर को भगवान का दर्जा दिया गया है. कोरोना काल में डॉक्टर्स ने लोगो को स्वस्थ और जान बचाने के लिए अपना अहम योगदान दिया है.

इसके अलावा दत्तात्रेय ने शिक्षा के क्षेत्र में किए जा रहे कार्यों तथा आर्थिक रूप से कमजोर परिवारों के बच्चों के लिए दी जा रही गुणवत्तापूर्ण शिक्षा की प्रशंसा की. उन्होंने बताया कोरोना काल में वैसे तो सभी वर्ग को नुकसान हुआ है, परंतु सबसे अधिक नुकसान शिक्षा के क्षेत्र में हुआ है. इससे बच्चों की शिक्षा बहुत प्रभावित हुई है.

यह भी पढ़े -   HDFC की 5 जबरदस्त Schemes, 5 साल में डबल हुआ पैसा; 500 रुपए की SIP से शुरू कर सकते हैं निवेश

राज्यपाल ने कहा -“कैंसर के बेहतर उपचार के लिए अभी और रिसर्च की जरूरत है. इसके लिए अनेको शोध जारी है। इस दो दिवसीय कान्फ्रेंस में कैंसर विज्ञान में आई नवीन खोजों और कोरोना के दौर में कैंसर के इलाज में हुए बदलाव पर चर्चा की गई. इस कान्फ्रेंस में वरिष्ठ कैंसर विशेषज्ञों के साथ यूआइसीसी के चेयरमैन डा.अनिल डीक्रूज ने भी हिस्सा लिया. वही इस दौरान कांफ्रेंस में शामिल हुए डॉ. प्रशांत मेहता सांस्कृतिक कार्यक्रम के माध्यम से कैंसर पीड़ितों के लिए धन जुटा रहे थे. ताकि आर्थिक रूप से कमजोर और गरीब लोगो का भी इलाज सम्भव हो सके.

पहली बार शमिल हुए भारतीय चेयरमैन

आपको बता दें इंडियन सोसाइटी ऑफ ऑन्कोलॉजी की वार्षिक कांफ्रेंस इनोवेशन इन ऑन्कोलॉजी का शुभारंभ राष्ट्रीय गान के साथ मंत्रोच्चारण के साथ दीपप्रज्वलन करके किया गया. वही पहली बार कैंसर की सबसे बड़ी संस्था यूआईसीसी/ UICC के चेयरमैन डॉ. अनिल डीक्रूज़ ने भी इस कॉन्फ्रेंस में हिस्सा लिया. यह पहला मौका था जब संस्था का चेयरमैन कोई भारतीय रहा. और उनका शामिल होना सर्वोदय हॉस्पिटल ही नही बल्कि पूरे फरीदाबाद के लिए गर्व की बात है.

यह भी पढ़े -   हरियाणा की इस यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिकों ने रचा इतिहास, पशुओं के लिए तैयार की पहली कोविड-19 वैक्सीन

जानकारी के लिए बता दें यह कांफ्रेंस हाईब्रिड श्रेणी की कांफ्रेंस थी. जिसमें देश और दुनियाभर से लगभग 250 कैंसर विशेषज्ञों ने फिजिकली और लगभग 1000 डॉक्टरों ने वर्चुअली हिस्सा लिया. कांफ्रेंस में हरियाणा के राज्यपाल (गवर्नर) श्री बंडारू दत्तात्रेय चीफ गेस्ट रहे. जिन्होंने कॉन्फ्रेंस में ,अपना महत्वपूर्ण योगदान देकर डॉक्टर फैटर्निटी मेंबर्स का हौसला बढ़ाया.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!