सिजेरियन ऑपरेशन के बाद महिला के पेट में दर्द, वजह जान दंग रह गए अस्पतालकर्मी

गुरुग्राम ।  हाल ही में गुरुग्राम की साइबर सिटी में एक निजी अस्पताल के डॉक्टरों द्वारा सिजेरियन ऑपरेशन के दौरान महिला के पेट में कॉटन छोड़े जाने का मामला सामने आया है. दरअसल पीड़िता के परिजनों का आरोप है कि अस्पताल के डॉक्टरों ने अपनी गलती को छिपाने के लिए उनकी अनुमति के बिना ही दोबारा से ऑपरेशन कर दिया, जिसके बाद से पीड़िता को होश नहीं आया है, पीड़िता के पति ने NGO की सहायता से पूरे मामले की शिकायत SECTOR-5 थाना प्रभारी को दे दी, वहीं पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है.

corona virus doctor image

जानकारी के मुताबिक़ मूल रूप से नॉर्थ ईस्ट की रहने वाली महिला को डिलीवरी के लिए SECTOR- 5 में एक निजी अस्पताल में दाखिल किया गया था, डिलीवरी के समय अस्पताल के डॉक्टरों ने बताया कि केस कॉम्प्लिकेटेड है इसलिए सिजेरियन ऑपरेशन करना पड़ेगा. महिला के परिजनों का आरोप है कि डॉक्टरों ने ऑपरेशन करते वक्त पेट में कॉटन छोड़ दिया, जिस वजह से डिलीवरी के कुछ वक्त बाद महिला को पेट दर्द की समस्या हो गयी.

जानकारी के मुताबिक़ जब डॉक्टरों से महिला के परिजनों ने संपर्क किया, तो उन्होंने कुछ गोलियां दे दी, ठीक नहीं होने पर, परिजनों ने दूसरे डॉक्टरों से सलाह ली, और जब पीड़िता का अल्ट्रासाउंड करवाया तो रिपोर्ट से पता चला कि उसके पेट में कॉटन हैं. जिस वजह से पेट में दर्द रहता है और ऑपरेशन वाली जगह लाल पड़ गयी है.

यह भी पढ़े -   बुलंद हौसले से हवा और मोरनी हिल्स के पानी में उतरे हरियाणा के सीएम मनोहर लाल

इस बात को लेकर जब महिला के पति ने डॉक्टरों से संपर्क किया, तो पहले तो डॉक्टर मानने को तैयार ही नहीं थे, ‘कि उनसे लापरवाही हुई है’ लेकिन जब उन्हें अल्ट्रासाउंड की रिपोर्ट दिखाई गई, तो जल्दबाजी में पीड़िता को हॉस्पिटल में दोबारा से दाखिल कर लिया, और परिजनों की बिना सहमति के आपरेशन कर कॉटन को निकाल दिया.

यह भी पढ़े -   अपनी इन 5 चीजों की जानकारी कभी किसी को न दें, जानिए क्या कहती हैं जया किशोरी

महिला के परिजनों का आरोप है कि दोबारा ऑपरेशन किए जाने के बाद से महिला को बिल्कुल भी होश नहीं आया, इस पर पीड़िता के पति ने NGO से मदद की गुहार लगायी, नॉर्थ ईस्ट के लोगों के लिए कार्य कर रहे NGO के सदस्य गुरुग्राम पहुंचे, और पूरे मामले की शिकायत पुलिस और स्वास्थ्य विभाग को दी. साइबर सिटी में निजी अस्पताल के डॉक्टरों पर लापरवाही का यह कोई पहला मामला नहीं है, इससे पहले भी निजी अस्पताल के डॉक्टरों पर गंभीर आरोप लगते आए हैं ऐसे में देखना होगा कि इस मामले में पीड़िता को न्याय कब तक मिल पाता है?

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!