बोर्ड परीक्षाओं में ड्यूटी को लेकर हरियाणा बोर्ड ने किया बड़ा बदलाव, जाने

भिवानी । हरियाणा बोर्ड इस बार नकल को लेकर पिछले वर्षो की तुलना में काफी सख्त है. पिछले सालों की तरह इस बार स्थानीय अध्यापक शहर में ड्यूटी नहीं दे सकेगा. गांव व शहर के तमाम स्कूलों में दूसरे स्कूलों के अध्यापकों की ड्यूटी लगाई जाएगी. इस बार अगर कोई विद्यार्थी दूसरे विद्यार्थी की जगह परीक्षा देता हुआ पकड़ा गया, तों ना सिर्फ उसके खिलाफ एफ आई आर दर्ज की जाएगी. बल्कि उसे 2 साल की बजाय 3 साल तक परीक्षा नहीं देने दिया जाएगा.

यह भी पढ़े -   भिवानी के अस्पताल में शवों की अदला बदली, पुष्पा की जगह रामकली का कर दिया अंतिम संस्कार

Jagbir Singh bseh

नकल को रोकने के लिए ज्यादा सख्त प्रबंध किए जा रहे है 

हरियाणा बोर्ड की परीक्षाएं 20 अप्रैल से शुरू होने जा रही है. कोंरोना भी एक बार फिर से तेजी से फ़ैल रहा है. लेकिन बोर्ड परीक्षाओं को लेकर इसी तरह से कंप्रोमाइज करने के मूड में नहीं है. नकल रोकने को लेकर पूरी तरह प्रशासन द्वारा सख्ती बरती जा रही है. बोर्ड अध्यक्ष डॉक्टर जगबीर सिंह व सचिव राजीव प्रताप ने बताया कि इस बार पहले से ज्यादा सख्त नियम बनाए गए हैं. अगर कोई विद्यार्थी, दूसरे विद्यार्थी की परीक्षा देता पाया तो उसके खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई करते हुए एफ आई आर दर्ज की जाएगी. साथ ही उसे 3 साल तक परीक्षा से बाहर किया जाएगा.

यह भी पढ़े -   HBSE Result 2021: हरियाणा बोर्ड 10वीं कक्षा का परीक्षा परिणाम इस दिन होगा जारी

इस बार विद्यार्थियों के एडमिट कार्ड पर भी नकल रोकने से संबंधित स्लोगन लिखे हुए होंगे. यह स्लोगन विद्यार्थियों द्वारा स्वयं ही बनाए गए है. अधिकारियों ने साफ तौर पर कहा कि परीक्षा में कोताही किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं की जाएगी. अगर कोई अध्यापक परीक्षा की ड्यूटी में कोताही बरतते हुए नजर आया,  तो ऐसे सरकारी स्कूलों के अध्यापकों के ट्रांसफर ड्राइव में नेगेटिव मार्किंग दी जाएगी व निजी स्कूल के अध्यापकों पर जुर्माना लगाया जाएगा.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!