यें हैं एशिया की सबसे बड़ी ऑटो मार्केट, 1300 दुकानों में 12 हजार मैकेनिक करते हैं काम

हिसार । हरियाणा के हिसार शहर की ऑटो मार्केट जो आज किसी परिचय की मोहताज नहीं है. देशभर की गाड़ियों के माहिर कारीगर आपको यहां मिलेंगे और यहां करीब 1300 ऑटो प्रोडेक्ट्स एंड सर्विसेज की दुकानें हैं तभी इसे पुरे एशिया की सबसे बड़ी मार्केट के रूप में जाना जाता है. यहां कार,बाइक, ट्रक, ट्रैक्टर ही नहीं अपितु हर तरह के वाहनों की मरम्मत का काम होता है. यहां हर वाहन के माहिर कारीगर है जो बॉडी मेकिंग, वेल्डिंग, पेंटिंग, डेटिंग के काम को तसल्लीबख्श करते हैं. इस मार्केट के सहारे करीब 12 हजार लोग अपना जीवन यापन कर रहे हैं.

auto market

मार्केट में ट्रकों की बॉडी मेकिंग का काम करने वाले सुरेन्द्र बताते हैं कि यहां गाड़ियों के सिर्फ नए ही नहीं अपितु पुराने पार्ट भी आसानी से मिल जाते हैं. यहां छोटे से छोटे पेंच से लेकर बड़े से बड़ा पुर्जा आसानी से मिल जाता है. इस मार्केट में हरियाणा ही नहीं अपितु दूसरे राज्यों से भी लोग काम करवाने के लिए आते हैं. इस मार्केट की खासियत यह है कि यहां एक बार आप किसी काम के लिए आओगे तो आपको कही और जाने की जरूरत नहीं है. इस मार्केट में वाहन संबंधित हर काम के कारीगर मौजूद हैं तभी तो यें मार्केट अपने आप में खास है.

यह भी पढ़े -   किसानों ने जलाई पराली, चालान काटने आएं पटवारी और उसके साथियों को बनाया बंधक

गाड़ियों की एसेसरीज का काम करने वाले दुकानदार योगेन्द्र ने बताया कि 70 के दशक में इस मार्केट की स्थापना हुई थी. धीरे-धीरे मार्केट का विस्तार इस तरह होता गया कि ट्रकों और अन्य बड़े वाहनों के लिहाज से हिसार आटो मार्केट से बेहतर आटो मार्केट देशभर में कोई नहीं है. यहां दिल्ली, पंजाब, राजस्थान,यूपी समेत कई अन्य राज्यों से लोग ट्रकों व अन्य बड़े वाहनों की रिपेयरिंग करवाने के लिए पहुंचते हैं.

यें मार्केट अपने आप में आटो कारोबारियो का एक छोटा कस्बा है. यहां गाड़ियों की जरूरत का हर सामान उचित रेट में मिल जाता है. राजस्थान से अपनी गाड़ी ठीक करवाने आएं एक शख्स ने बताया कि वो हमेशा गाड़ी ठीक करवाने इधर ही आते हैं क्योंकि यहां बढ़िया और सस्ता काम हो जाता है.

यह भी पढ़े -   क्रिकेटर युवराज सिंह की इस मामले में हुई गिरफ्तारी, तुरंत जमानत पर हुए रिहा

करोड़ों का रेवेन्यू, फिर भी खस्ता हालत

एक अनुमान के मुताबिक यहां लगभग 1300 दुकानों से हर रोज लगभग चार करोड़ रुपए का व्यापार होता है. सरकार को टैक्स के रूप में करोड़ों रुपए की आमदनी होती है लेकिन यहां सुविधाओं के नाम पर प्रशासन की बेरुखी साफ देखी जा सकती है. दुकानदारों ने कहा कि यदि सरकार और प्रशासन यहां सुविधा बढ़ाने पर जोर दे तो यह मार्केट एशिया की सबसे बड़ी ही नहीं बल्कि बेस्ट आटो मार्केट भी बन जाएंगी.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!