दहेज में कार न मिलने पर विवाहिता की हत्या, रोड पर शव रख लगाया जाम

कैथल । क्योड़क गांव में ससुराल वालों ने दहेज की मांग की पूर्ति ना होने पर 21 वर्षीय नववधू प्रियंका की निर्मम हत्या कर दी. केवल 4 महीने पहले ही प्रियंका का विवाह क्योड़क गांव के रहने वाले अभिषेक के साथ हुआ था. प्रियंका के परिवार वालों ने ससुराल पक्ष पर आरोप लगाया है कि उन्होंने बेटी की शादी में दहेज में बाइक दी थी. परंतु पति व ससुराल पक्ष कार व और अधिक गहनों की मांग कर रहे थे.

haryana latest news today 2

शनिवार के दिन ससुराल पक्ष ने दहेज की मांग की पूर्ति न होने पर हत्या की वारदात को अंजाम दे दिया. अब प्रियंका के मायके वाले हत्या के आरोपी ससुराल वालों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर करनाल रोड पर स्थित सर छोटू राम चौक पर प्रदर्शन कर रहे हैं. परिवार वालों ने मृत शव को चौक पर ही रखा हुआ है और पूरा चौक जाम कर दिया है. एसडीएम डॉ संजय आधे घंटे बाद मौके पर पहुंचे और उन्होंने परिवार वालों को शीघ्र अति शीघ्र कार्रवाई करने का आश्वासन दिया और जाम को खुलवा दिया.

यह भी पढ़े -   नशेड़ी युवकों ने गर्भवती महिला के पेट पर मारी ईट, परिजन लगाते रहे अस्पताल व पुलिस के चक्कर

दहेज के लिए करते थे मारपीट

धौंस के रहने वाले आभैराम ने जानकारी देते हुए कहा कि 3 दिसंबर 2020 को उन्होंने अपने बेटे और बेटी प्रियंका का विवाह एक साथ किया था. प्रियंका का विवाह क्योड़क के रहने वाले अभिषेक के साथ संपन्न हुआ था. विवाह के कुछ दिनों के पश्चात ही बेटी ने अपने परिवार वालों को बताया कि उसके पति अभिषेक, जेठ संदीप, अभिषेक के चाचा सुरेश, सास सुमन उसे बार-बार कम दहेज लाने की बात पर ताने देते रहते हैं. ससुराल वाले बार-बार कहते हैं कि अगर इस घर में रहना है तो और गहने और कार लेकर आओ. बेटी ने बताया कि कई बार ससुराल में उसके साथ मारपीट भी की गई है.

यह भी पढ़े -   रेवाड़ी की कोविड जेल से 13 कैदी फरार, पुलिस विभाग में मचा हड़कंप

16 अप्रैल को दोपहर के वक्त अभिषेक के मोबाइल फोन से प्रियंका ने अपने भाई प्रदीप को कॉल किया. प्रियंका ने बताया कि अभिषेक, संदीप, सुरेश और सुमन ने दहेज में गाड़ी ना लाने पर बहुत झगड़ा किया है. उसके बाद बिचौलिए से बात की गई तो उसने कहा कि उसने ससुराल पक्ष से बात कर ली है. अब प्रियंका को कभी परेशान नहीं किया जाएगा. उसके अगले ही दिन खबर मिली कि प्रियंका की मृत्यु हो गई है. जब मायके पक्ष क्योड़क गांव पहुंचा तो कमरे में बिस्तर पर प्रियंका का मृत शरीर पड़ा था. इसके साथ ही लोहे के गार्डर से प्रियंका की चुन्नी बंधी हुई थी. मायके पक्ष ने आरोप लगाया कि संदीप, सुरेश, सुमन और अभिषेक ने मिलकर प्रियंका की हत्या कर दी है.

तीन-चार दिनों में ही बेची दहेज में मिली बाइक

प्रियंका की चाची कमलेश और शर्मिला ने जानकारी देते हुए कहा कि शादी के बाद अभिषेक प्रियंका को लगातार दहेज के लिए प्रताड़ित करता रहा. अभिषेक ने शादी में कार न मिलने पर नाराजगी दिखाई और बाइक लेने से इनकार कर दिया. जब समाज के बड़े लोगों ने उसे समझाया तो वह बाइक लेने के लिए तैयार हो गया. लेकिन उसने शादी के तीन-चार दिनों बाद ही उस बाइक को बेच डाला. अभिषेक ने शादी से अगले दिन ही प्रियंका को अपने साथ ले जाने से इंकार कर दिया था.

यह भी पढ़े -   सांपला में पूर्व पार्षद की गोली मारकर हत्या, पीजी के विवाद से हुई हत्या

ससुराल पक्ष की गिरफ्तारी की मांग को लेकर मायके पक्ष ने शहर के सर छोटू राम चौक पर प्रियंका के मृत शव को रखकर जाम लगा दिया. पोस्टमार्टम के बाद मृत शरीर को घर ले जाने की बजाय परिवार वाले चौक पर लेकर पहुंच गए. इस जाम की वजह से अंबाला रोड और करनाल रोड का यातायात बुरी तरह से प्रभावित हुआ.

 

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!