सावधान: मिठाइयों को खरीदते समय एक्सपायरी डेट का रखे ध्यान

महेंद्रगढ़ । दीपावली का त्यौहार नजदीक है, जिस वजह से मिठाइयों की दुकानों पर भी मिठाईयां बिकने लगी है. बता दे कि दीपावली के त्यौहार पर सबसे ज्यादा मिठाइयों की बिक्री होती है. ज्यादा बिक्री की आड़ में मिठाई विक्रेता मिलावटी व पुरानी मिठाइयों को ग्राहकों को बेच देते हैं. जो लोगों के सेहत के लिए काफी हानिकारक हो सकती है. इसके लिए खाद्य सुरक्षा नियमों के अनुसार मिठाइयों के डिब्बों या मिठाइयों के शोकेस पर उनके सामने एक्सपायरी डेट लिखना अनिवार्य होता है.

यह भी पढ़े -   रोहतक के शिक्षक ने लड़ी 5 साल तक ₹5 के लिए लड़ाई, आखिरकार मिला न्याय जाने क्या था मामला

SWEET SHOP

एक्सपायरी डेट देख कर खरीदे मिठाइयां

परंतु बहुत कम लोगों को ही यह मालूम होता है कि मिठाइयों पर भी एक्सपायरी डेट या बेस्ट बिफोर लिखा होता है, जिस वजह से दुकानदार इसका फायदा उठाकर धड़ल्ले में पुरानी मिठाइयों को ही ग्राहकों को बेच देते हैं. लोग दिवाली की बधाई देने के लिए या घरों में खाने के लिए मिठाइयों को ही अपनी पहली प्राथमिकता मे रखते है.

दिवाली पर मिठाइयों की मांग ज्यादा होने की वजह से कुछ दुकानदार मिलावटी मावे की मिठाईयां बेचते या पुरानी मिठाइयों को दुकानदार ग्राहकों को दे देते हैं. जिस वजह से इन को खाने के बाद लोग फूड पॉइजनिंग या अन्य बीमारियों की चपेट में आ जाते हैं. इन सभी बातों को ध्यान में रखते हुए सरकार ने मिठाइयों पर भी बेस्ट बिफोर लिखने के आदेश दिए हुए हैं.

इन नियमों के तहत जहां पर भी मिठाइयां रखी हो, वहां उस शोकेस में मिठाइयों के नाम के साथ साथ बेस्ट बिफोर लिखना भी अनिवार्य है. बता दें कि दुकानदार इन नियमों का सही से पालन नहीं कर रहे. जिसकी वजह से लोग इसको बिना देखे ही खरीदारी कर लेते हैं. खाद्य सुरक्षा विभाग के अधिकारी डॉ दीपक चौधरी ने बताया कि दिवाली पर मिठाइयों की दुकानों पर सैंपल भरने की प्रक्रिया जारी है. उन्होंने अभी तक जिले में 23 सैंपल लिए हैं. दीपावली तक यह जारी रहेगा. उनका मकसद है कि लोगों को शुद्ध मिठाईयां मिले.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!