किसान आंदोलन: संख्या बढ़ाने के लिए प्रवासी मजदूरों को धरनास्थल पर बुलाने की कवायद

नई दिल्ली । केंद्र सरकार द्वारा लागू किए गए तीन नए कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग कर रहे किसान बॉर्डर पर डटे हुए हैं और अब राज्यों से पलायन करने वाले प्रवासी मजदूरों को भी अपने साथ धरना स्थल पर बुलाने में जुट गए हैं. इस प्रकार बॉर्डर पर हो रहे धरना प्रदर्शन में भीड़ को बढ़ाने की कोशिशें की जा रही हैं. इसके साथ ही किसान प्रतिरोध सप्ताह भी मनाया जा रहा है. नए कृषि कानूनों के नुकसान के संबंध में किसानों व अन्य लोगों को बताया जा रहा है और सरकार का विरोध करने की याचना की जा रही है.

यह भी पढ़े -   हरियाणा के पंचकूला में मिला मोर्टार बम, दहशत में लोग

PRWASI MAJDUR

दूसरी ओर, एक बार फिर से पंजाब के किसानों ने दिल्ली बॉर्डर की तरफ कूच करना आरंभ कर दिया है. जैसे कि फसल की कटाई का काम पूर्ण हो चुका है इसलिए बुधवार को लगभग 6,000 किसान खनोरी से दिल्ली के लिए रवाना हुए. भारतीय किसान यूनियन एकता उगराहां के प्रदेश अध्यक्ष जोगिंदर सिंह उगराहां किसानों के काफिले का नेतृत्व कर रहे हैं. इसके साथ ही बुधवार को किसानों ने टिकरी बॉर्डर पर गदर आंदोलन की वर्षगांठ को मनाया. इस अवसर पर गदरी बाबा अमर रहे के नारे लगाए गए.

यह भी पढ़े -   मई व जून महीने में राशन डिपो में फ्री मिलेगा ये राशन, जाने क्या-क्या मिलेगा

कुल हिंद किसान सभा पंजाब के नेता रुलदू सिंह ने कहा कि कोरोना संक्रमण की आड़ लेकर सरकार किसान आंदोलन को बिखेरना चाहती हैं. उन्होंने कहा कि किसान कोई भी वैक्सीन नहीं लगवाएंगे, क्योंकि किसी भी किसान को कोरोना संक्रमण नहीं है. उन्होंने यह भी कहा कि मई में किसानों का दिल्ली कूच का प्रोग्राम रद्द किया जा सकता है. उन्होंने कहा किसान आंदोलन को मजबूत बनाए रखने हेतु फिलहाल दिल्ली जाना सही नहीं होगा, क्योंकि दिल्ली में किसान नेताओं पर कई केस दर्ज हैं. अगर किसान नेता दिल्ली गए तो उन्हें गिरफ्तार कर लिया जाएगा और किसान आंदोलन विफल हो जाएगा.

यह भी पढ़े -   हरियाणा रोडवेज को लेकर परिवहन मंत्री ने दिया बड़ा बयान, बंद नहीं की जाएंगी बसें

भारतीय किसान यूनियन एकता उगराहां के प्रदेश अध्यक्ष जोगिंदर सिंह उगराहां के अनुसार कोरोना संक्रमण से तो केवल 1 दिन ही मरेंगे परंतु यदि केंद्र सरकार द्वारा तीन नए कृषि कानूनों को लागू कर दिया गया तो किसान प्रतिदिन भूख से मरेंगे. 4 महीनों से किसान दिल्ली बॉर्डर पर मोर्चा लगाकर बैठे हैं.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!