SBI के ग्राहकों के लिए खुशखबरी, ज्यादा सुरक्षित होगी एटीएम से निकासी

 नई दिल्ली | एसबीआई (SBI) के ग्राहकों को अब एटीएम से नगद निकालने के लिए रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर आए ओटीपी को भी भरना होगा.10 हजार से ऊपर की निकासी पर यह नियम लागू होंगे. भारतीय स्टेट बैंक ने अपने ग्राहकों की धन राशि की सुरक्षा को बढ़ाने के लिए, ग्राहकों के साथ हो रहे फ्रॉड से उन्हें बचाने के लिए यह नियम लागू किया गया है. जिसके अंतर्गत एसबीआई के सभी ग्राहकों को एटीएम से कैश निकालने के लिए उनके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर आए ओटीपी को एटीएम पिन के साथ दर्ज करना होगा.

यह भी पढ़े -   हरियाणा सरकार ने बड़े पैमाने पर किया आईएएस अधिकारियों का तबादला

State Bank of India

एसबीआई ने अपने ऑफिशियल टि्वटर पर ट्वीट करके यह जानकारी साझा की है. एसबीआई एटीएम पर लेनदेन के लिए हमारी ओटीपी आधारित नकद निकासी प्रणाली धोखेबाजों के खिलाफ टीकाकरण है. आपको धोखाधड़ी से बचाना हमेशा हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता होगी.

यह नियम लागू करने के पीछे बैंक ने यह तर्क दिया है कि अब ग्राहकों को 10 हजार तथा इससे ऊपर के मूल्य की निकासी के लिए  उनके मोबाइल पर भेजे गए ओटीपी (OTP) को दर्ज करना होगा. इसका मुख्य उद्देश्य ग्राहकों को हो रही धोखाधड़ी से बचाना है क्योंकि OTP दर्ज किए बिना उनके अलावा कोई और उनके बैंक खाते से निकासी नहीं कर सकेगा जिससे ग्राहकों का बैंक खाता और सुरक्षित बन सकेगा.

यह भी पढ़े -   दिसंबर में 12 दिन बैंक रहेंगे बंद, आरबीआई ने जारी की छुट्टियों की लिस्ट

जानिए क्या करना होगा कैश निकालने के लिए

  • एसबीआई के एटीएम से कैश निकालने के लिए ओटीपी की आवश्यकता होगी.
  • यह ओटीपी आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर बैंक द्वारा भेजा जाएगा.
  • यह ओटीपी ग्राहकों के लिए सिंगल ट्रांजैक्शन के लिए वैलिड होगा. 4 नंबर की संख्या का ओटीपी होगा.
  • एक बार जब आप निकाली जाने वाली राशि का चयन कर लेंगे उसके बाद आपकी स्क्रीन पर ओटीपी को दर्ज करने का विकल्प मिलेगा.
  • आपको निकासी के लिए ओटीपी दर्ज करने के साथ अपना एटीएम पिन भी दर्ज करना होगा.
यह भी पढ़े -   हरियाणा: भैंस से था इतना लगाव, निधन पर की 17वीं, गांव में किया भंडारा

आखिर क्या आवश्यकता थी इस नियम को लागू करने की

ऐसी खबरें अक्सर सुनने को मिलती थी. जिसमें ग्राहकों के साथ धोखाधड़ी करके उनके एटीएम से पैसों की निकासी की गई. इसलिए एसबीआई ने ग्राहकों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए यह प्रयास किया कि खाताधारकों की धनराशि को धोखेबाजो से और ज्यादा सुरक्षित करने के लिए यह कदम उठाया गया जिसके अंतर्गत ग्राहक 10 हजार से ऊपर की राशि को ओटीपी दर्ज करने के पश्चात ही निकाल सकते हैं.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!