अमित शाह और मुख्यमंत्री खट्टर की दिल्ली में मुलाकात, बोले – किसान आंदोलन शांति से चले तो कोई आपत्ति नहीं लेकिन…

दिल्ली | केंद्र द्वारा लाए गए कृषि कानूनों के खिलाफ चल रहा किसान आंदोलन एक बार फिर सुर्खियों में है. बीते दिनों में हुए घटनाक्रमों के बाद आंदोलन ने फिर से तेजी पकड़ी है. इस बीच हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर 3 दिनों के दिल्ली दौरे पर हैं, इस दौरान मुख्यमंत्री तमाम राजनीतिक हस्तियों से भी मिल रहे हैं. बताया जा रहा है कि इस दौरे में मुख्यमंत्री दूसरे कार्यकाल के 600 दिन पूरे होने के बाद अपनी रिपोर्ट दिल्ली आलाकमान के सामने रखने पहुंचे हैं.

CM WITH AMIT SHAH

बीते कल गुरुवार को मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की. गृहमंत्री से मुलाकात के दौरान हरियाणा की तमाम राजनीतिक गतिविधियों के बारे में मुख्यमंत्री ने चर्चा की. प्राप्त जानकारी के मुताबिक, दोनों नेताओं के बीच चर्चा का मुख्य विषय किसान आंदोलन रहा. मुख्यमंत्री खट्टर ने गृह मंत्री अमित शाह को किसान आंदोलन के दौरान अनैतिक, हिंसात्मक और खासतौर पर महिलाओं के साथ हो रही आपत्तिजनक घटनाओं के बारे में अवगत कराया. मुख्यमंत्री ने कहा, किसान आंदोलन अगर शांतिपूर्ण तरीके से चले तो हमें कोई आपत्ति नहीं है लेकिन आंदोलन के दौरान हिंसात्मक और अनैतिक घटनाएं चिंता का विषय है. तमाम चर्चाओं के बाद गृह मंत्री अमित शाह ने मुख्यमंत्री को आश्वासन दिया कि जरूर इस तरह की घटनाओं पर कार्रवाई की जाएगी.

मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने फिर से कहा कि किसानों के लिए लाए गए तीनों कृषि कानून उनके हित की बात करते हैं. किसानों को आंदोलन खत्म कर वापस लौट जाना चाहिए. किसान आंदोलन में महिलाओं के साथ हो रही अनैतिक घटनाओं को बिल्कुल भी बर्दाश्त नहीं किया जाएगा. सरकार कानून व्यवस्था को किसी भी हालत में नहीं बिगड़ने देगी. वहीं दिल्ली में मुख्यमंत्री तमाम आला अधिकारियों से राज्य के विभिन्न मुद्दों पर मुलाकातें कर रहे हैं.

यह भी पढ़े -   शहर में धारा 144 लागू करने को लेकर कांग्रेस ने उठाए सवाल, बताया बीजेपी की साज़िश

वहीं दूसरी ओर, हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज भी दिल्ली में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से मिले. मुलाकात के बाद विज ने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि यह एक साधारण सी मुलाकात थी. एक सवाल का जवाब देते हुए विज ने कहा, भाजपा सरकार हमेशा से ही काम करती आई है इसके लिए हमें कांग्रेस से पूछने की जरूरत नहीं है. हमने जो काम किया है वह जनता को बताया है. हरियाणा के तमाम बड़े नेताओं की दिल्ली आलाकमान से हो रही लगातार मुलाकातों को कई रूप में देखा जा रहा है. किसान आंदोलन और हरियाणा में मंत्रिमंडल विस्तार को देखते हुए इन मुलाकातों को महत्वपूर्ण माना जा रहा है.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!