नूंह की बेटी ने पश्चिम बंगाल लोक सेवा आयोग की न्यायिक परीक्षा में पाया तीसरा स्थान, जज बनकर पेश की मिसाल

नूंह | हरियाणा के नूंह जिले के मेवात की बेटी ने ऐसा काम कर दिखाया है, जिसकी हर और चर्चा हो रही है. दरअसल, तावडू खंड के गांव सुनारी की बेटी रुखसाना ने पश्चिम बंगाल लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित न्यायिक परीक्षा में प्रदेश भर में तीसरा स्थान प्राप्त किया है. बेटी के जज बनने की उपलब्धि पर पूरे क्षेत्र में उत्सव का सा माहौल बन गया है. गांव में बधाइयों का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है.

Rukhsana Nuh

तावडू के स्कूल से की शुरूआती पढ़ाई

रुखसाना के पिता मोहम्मद इलियास सर्व हरियाणा ग्रामीण बैंक से सेवानिवृत हैं. उन्होंने जानकारी देते हुए बताया कि उनकी बेटी ने तावडू के मेवात मॉडल स्कूल से दसवीं की परीक्षा व 12वीं तथा LLB की परीक्षा अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी से उत्तीर्ण की.

बता दें कि रुखसाना ने जामिया मिलिया इस्लाम यूनिवर्सिटी से एमएम की परीक्षा पास की. पिछले साल 24 मार्च 2024 को न्यायिक परीक्षा का आयोजन हुआ. इसके बाद, 2 मई से 13 मई तक मुख्य परीक्षा का आयोजन हुआ. 22 अप्रैल को इंटरव्यू और मंगलवार शाम को परीक्षा परिणाम घोषित किया गया.

रुखसाना ने पाया तीसरा स्थान

इसमें रुखसाना ने प्रदेश भर में तीसरा स्थान प्राप्त किया. साल 2021- 22 में हरियाणा ज्यूडिशरी का इंटरव्यू किसी कारण क्लियर नहीं हो पाया. रुखसाना की मां बेटी की जल्दी शादी करना चाहती थी. बेटी आगे पढ़ना चाहती थी, इसीलिए उन्होंने बेटी का आगे पढ़ाई जारी रखने में साथ दिया. आज उनकी बेटी की मेहनत रंग लाई और वह सिविल जज के रूप में चयनित हुई.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!