रोहतक के टिटोंली और घिलौड गांव में थम नहीं रहा मौतों का सिलसिला, किया गया सील

रोहतक । रोहतक के टिटोंली और घिलौड गाँव को कंटेंटमेंट जोन घोषित कर दिया गया है. गांव में इसकी मुनादी भी करवा दी गई है. लोगों को सूचित कर दिया गया है कि दोनों गांव अब कंटेंट ज़ोन में शामिल हो गए हैं और लोगों को और भी ज्यादा कड़ाई से अब कोविड-19 के नियमों को पालन करना होगा.

police 2

 इसलिए घोषित हुआ कंटेनमेंट जोन

गौरतलब है कि इन दोनों गांवों में बीते 1 सप्ताह में 40 के लगभग मौतें हो चुकी हैं. अभी भी गांव में शायद ही कोई घर ऐसा हो जहां कोई सदस्य बुखार,खांसी, जुखाम की चपेट में ना हो. लगातार हो रही इन मौतों का कारण बुखार और हार्ट अटैक बताया जा रहा है. इन मौतों की खबर प्रशासन तक पहुंची और पूरे गांव को सैनिटाइज भी करवाया गया. लेकिन हालातों में कुछ ज्यादा अंतर नहीं आया. अभी भी मौतों का सिलसिला थमने का नाम ही नहीं ले रहा है. यही कारण है कि प्रशासन द्वारा अब दोनों गांव को कंटेंटमेंट जोन घोषित कर दिया गया है ताकि इन मौतों के सिलसिले को रोका जाए. क्योंकि लगातार हो रही इन मौतों ने प्रशासन भी नींद उड़ा रखी है.

दोनों गांव में मौतों का सिलसिला बीते 25 अप्रैल को शुरू हुआ और अब तक लगातार इस संख्या में इजाफा होता जा रहा है. अमूमन यह देखा गया कि किसी को एक या 2 दिन बुखार होता है और उसके बाद सीधा कुछ ही घंटों में मरीज की मृत्यु भी हो जाती है. इसकी भयावहता आप इसी बात से समझ सकते हैं कि जैसे ही गांव वाले किसी एक व्यक्ति का अंतिम संस्कार करके वापस लौटते हैं तभी दूसरे व्यक्ति की मौत हुई मिलती है.

यह भी पढ़े -   वारदात: महिला की बेरहमी से हत्या, झज्जर में मिला कटा हुआ सिर, रोहतक में धड़

 गांव में फैसला है सन्नाटा

गांव में होने वाली इन मौतों से सभी आहत हैं और गांव में चारों ओर सन्नाटा पसरा है. कोरोना ने गांव वालों को दोहरी मार मारी है.एक तो होने वाली मौतें और दूसरी तरफ गांव वालों से छीना रोजगार. अब गांव वालों के ऊपर रोजगार का संकट भी आ गया है.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!