हरियाणा पुलिस कॉन्स्टेबल भर्ती परीक्षा फिर विवादों में घिरी, जानें इस बार क्यों उठ रहे हैं सवाल

पंचकूला । हरियाणा में चल रही पुलिस मेल कॉन्स्टेबल भर्ती परीक्षा एक बार फिर विवादों में हैं. जहां पिछली बार अजीबो-गरीब प्रश्न पूछे जाने पर एचएसएससी की किरकिरी हुई थी वही इस बार यह परीक्षा बहुत अधिक कठिन सवालों को लेकर चर्चा का कारण बन रही है. पुलिस भर्ती परीक्षा में हरियाणा GK से जुड़े प्रश्न बिलकुल ही गायब थे .इसका सबसे ज्यादा नुकसान भर्ती परीक्षा में शामिल हरियाणा के अभ्यर्थियों को उठाना पड़ेगा और हरियाणा से बाहर के अभ्यर्थियों को इसका फायदा पहुंचेगा.

STUDENT

बता दें कि हरियाणा में पुरुष कांस्टेबल भर्ती परीक्षा के लिए 31 अक्टूबर,1 नवंबर व 2 नवंबर की डेट तय की गई है. तीनों दिन प्रदेश के विभिन्न जिलों में दो शिफ्टों में परीक्षा आयोजित की जा रही है. पेपर लीक और नकल माफियाओं पर अंकुश लगाने के लिए एचएसएससी ने इस बार नया प्रयोग करते हुए दोनों शिफ्टों में 4 अलग-अलग तरह के पेपर दिए हैं.

यह भी पढ़े -   चरखी दादरी में निकली स्टाफ नर्स के पदों पर भर्ती, ऐसे करे आवेदन

हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग के चेयरमैन भोपाल सिंह खदरी ने कहा कि ऐसा करने से पेपर लीक की संभावना कम होगी . लेकिन कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव रणदीप सुरजेवाला ने एचएसएससी की इस कार्यशैली पर प्रश्न उठाते हुए कहा है कि अमूमन भर्ती परीक्षा में देखा जाता है कि पेपर तो एक तरह का होता है , लेकिन उसके प्रश्न आगे-पीछे हों सकते हैं. मगर आयोग ने एक परीक्षा में चार तरह के प्रश्नपत्र देकर उत्तर पुस्तिकाएं (OMR) शीट खाली छोड़कर आने वालों के लिए मनमर्जी की भर्ती का नया रास्ता खोल दिया है.

रणदीप सुरजेवाला ने इन प्रश्नों को लेकर सीएम मनोहर लाल, डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला, आयोग चैयरमेन भोपाल सिंह खदरी समेत कैबिनेट के सभी मंत्रियों तथा पुलिस विभाग के अधिकारियों को खुली चुनौती दी है और कहा कि वह इस पेपर में से 30% प्रश्न भी हल कर दिखा दें तो वह आजतक लगाएं गए अपने तमाम आरोपों को माफी के साथ वापस लें लेंगे.

यह भी पढ़े -   इंडियन कोस्ट गार्ड में मांगे गए असिस्टेंट कमांडेंट के पदों पर आवेदन, देखे कब से कर सकते हैं अप्लाई

उन्होंने कहा कि गृह जिले से दूर परीक्षा सेंटर, बहुत ज्यादा कठिन प्रश्न और उपर से सेलेब्स से बाहर पूछें गए प्रश्नों ने युवाओं की सारी मेहनत पर पानी फेर दिया. इस भर्ती परीक्षा पेपर में आइएएस और आइपीएस की परीक्षा से भी ज्यादा मुश्किल प्रश्न पूछे गए हैं. दो शिफ्टों की परीक्षा में आठ अलग-2 प्रश्नपत्र होने का मतलब साफ है कि नार्मलाइजेशन नहीं हो सकेगा और उस रिजल्ट को आयोग कैसे कंपाइट करेगा, यह बड़ा सवाल है।

यह भी पढ़े -   SSC दिसंबर महीने में जारी करेगा नया कैलेंडर, पढ़े ताज़ा अपडेट

सुरजेवाला ने कहा कि हमने जब पुलिस सब इंस्पेक्टर पुरुष के 450 पदों के लिए तीन परीक्षा सेंटर पर गड़बड़झाला उजागर किया तो पेपर कैंसल करने की बजाय उन तीन सेंटरों के 550 अभ्यर्थियों का पेपर दोबारा लिया गया.कमाल यह हुआ कि इनमें से 43 सब इंस्पेक्टर सेलेक्ट हो गए. यानि भर्तियों में पूरी तरह से गोलमाल किया जा रहा है.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!