हरियाणा सरकार का बड़ा फैसला- 43 नगरपालिका और परिषदों को किया गया भंग

चंडीगढ़ ।  हरियाणा सरकार ने एक बड़ा फैसला लेते हुए 43 नगरपालिकाओ और नगर परिषदों का कार्यकाल समाप्त हो जाने पर उन्हें भंग किया गया है. साथ ही सभी में प्रशासक की नियुक्ति भी कर दी गई है. प्रशासक तौर पर सभी जगह एसडीएम को एडमिनिस्ट्रेटिव नियुक्त किया गया है.

यह भी पढ़े -   हरियाणा सरकार ने किए विकास के दावे लेकिन जमीनी हकीकत कोसों दूर, जानिए सच्चाई

dushant chautala

इन नगर पालिकाओ और नगर परिषदो को किया गया भंग

बता दें कि मुंसिपल काउंसिल (कमेटियों) में फतेहबाद, समालखा फिरोजपुर झिरका, पुनहाना, गोहाना, असंध, होडल, पलवल, सोहना, तरावड़ी, निसिंग, चीका, मंडी डबवाली, चरखी दादरी, झज्जर, महम, रानियां, जींद, कैथल, राजौंद, पेहवा, थानेसर, हांसी, कालावाली, उचाना, बहादुरगढ़, नरवाना, टोहाना, महेंद्रगढ़, लाडवा, शाहबाद, सफीदों, घरौंडा, गन्नौर, भुना, बावल, ऐलनाबाद, नागल चौधरी, नारनौल, नुहं, नारायणगढ़, रतिया व बरवाला शामिल है.

हरियाणा निकाय विभाग के एडिशनल चीफ सेक्रेटरी एस एन राय द्वारा जारी किए आदेशों के अनुसार सभी कमेटियों में नियुक्त किए गए प्रशासक डायरेक्ट अर्बन लोकल बॉडीज हरियाणा के प्रशासनिक कंट्रोल में कार्य करेंगे. बता दे कि कोरोना के चलते नगर पालिकाओं के चुनाव की तिथियां घोषित नहीं की गई है. जिसकी वजह से सरकार ने 43 नगर पालिकाओं में प्रशासक की नियुक्ति की है.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!