मुख्यमंत्री का संबोधन: सीएम खट्टर ने दो नई योजनाओं की शुरुआत की, जानिए

चंडीगढ़ | हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने आज बुधवार 30 जून को करीब 12:00 बजे प्रेस कॉन्फ्रेंस के माध्यम से संबोधित किया. इस प्रेस कांफ्रेंस के जरिए मुख्यमंत्री ने दो महत्वपूर्ण योजनाओं की शुरुआत की. मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य के सभी लोगों को एक ही जगह पर सरकार की सभी गतिविधियों, योजनाओं, नौकरियों और सरकार द्वारा जारी सभी सूचना की जानकारी प्राप्त हो इसके लिए एक ऐप लॉन्च किया जा रहा है. साथ ही लोगों को उनकी जमीन का मालिकाना हक देने के लिए मुख्यमंत्री शहरी निकाय स्वामित्व योजना की शुरुआत की.

haryana cm press conference

पहली योजना की शुरुआत करते हुए मुख्यमंत्री ने JanSahayak – आपका सहायक (m-Governance Platform) नाम से एक मोबाइल ऐप (Mobile App) लांच किया. JanSahayak एक ऐसा ऐप है जिसके माध्यम से हरियाणा सरकार की सभी गतिविधियों, रोजगार, घोषणाएं, नोटिफिकेशन, जिला अनुसार सूचनाएं, योजनाओं और कार्यक्रमों की जानकारी प्राप्त होगी. इस ऐप के माध्यम से राज्य के नागरिक अपने-अपने क्षेत्रों की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं. जैसे- किसान किसानों के लिए आने वाली सभी योजनाओं की जानकारी प्राप्त कर सकता है, युवा वर्ग नौकरियों की जानकारी प्राप्त कर सकता है. इस ऐप के भीतर अलग-अलग क्षेत्रों की अलग-अलग वर्ग बनाए गए हैं. जिससे कोई भी नागरिक ऐप में लॉग इन करने के बाद किसी भी क्षेत्र की जानकारी आसानी से प्राप्त कर सकता है. किसी भी तरह की शिकायत भी इस ऐप के माध्यम से दर्ज करवाई जा सकती है.

यह भी पढ़े -   हरियाणा में मंत्रिमंडल विस्तार 4 से 17 दिसंबर के बीच होने की संभावना, सीएम जल्द ले सकते हैं फैसला

मुख्यमंत्री द्वारा ‘मुख्यमंत्री शहरी निकाय स्वामित्व योजना’ पोर्टल का शुभारंभ भी किया गया. जिसके तहत जिनकी जमीन नगर पालिकाओं की भूमि पर है तथा जो दिनांक 31 दिसंबर 2020 को 20 वर्ष या उससे अधिक की अवधि में व्यक्ति के कब्जे में है, को स्वामित्व का अधिकार दिया जाएगा. योजना का लाभ रहने वाले इच्छुक प्रार्थी कल यानी 1 जुलाई से आवेदन कर सकते हैं. आवेदन करने के लिए परिवार पहचान पत्र, आईडी कार्ड समेत कुछ और दस्तावेज अनिवार्य है.

अपने संबोधन के दौरान मुख्यमंत्री ने किसान आंदोलन के ऊपर चर्चा करते हुए कहा कि किसान आंदोलन को 7 महीने से अधिक का समय हो चुका है. हमारे और केंद्र सरकार के द्वारा तीनों बिलों की सार्थकता किसानों को समझाने का प्रयास कई बार किया जा चुका है. अब किसानों को अपनी जिद छोड़कर बातचीत करके आंदोलन को खत्म कर लेना चाहिए. किसान अपने आप में एक पवित्र शब्द है इसकी पवित्रता बची रहे. हम हरियाणा प्रदेश में किसानों के लिए कई स्तर पर काम कर रहे हैं. मुख्यमंत्री ने प्रेस से बात करते राज्य में चल रही तमाम योजनाओं और आने वाले समय में सरकार द्वारा किए जाने वाले तमाम क्रियाकलापों के बारे में भी बताया.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!