अब कार के साथ-2 हरियाणा में बनेंगी मारुति की मोटरसाइकिलें, सरकार देगी 900 एकड़ जमीन

चंडीगढ़ । हरियाणा प्रदेश के लिए एक बेहद ही राहत प्रदान करने वाली खबर है. बता दें कि हरियाणा सरकार और मारुति उद्योग के बीच कुछ दौर की सकारात्मक बातचीत के बाद अब इस बात पर पूर्ण रूप से विराम लग चुका है कि मारुति कंपनी हरियाणा छोड़कर दूसरे प्रदेश का रुख नहीं करेगी. कंपनी ने अब हरियाणा में ही अपने उधोग को विस्तार देने का फैसला कर लिया है.

maruti plant gurugram news

इस दिशा में हरियाणा सरकार मारुति उद्योग को सोनीपत जिले के खरखौदा में 900 एकड़ जमीन देने जा रही है. सरकार ने खरखौदा में जो जमीन दिखाई दे ,वह मारुति उद्योग को काफी पसंद है लेकिन जमीन के रेट को लेकर दोनों के बीच पेंच फंसा हुआ है. हालांकि प्रदेश सरकार और मारुति प्रबंधन के बीच इस नए प्लांट की स्थापना और जमीन रेट को लेकर कई दौर की बातचीत हो चुकी है और ऐसी उम्मीद जताई जा रही है कि जल्द ही इस मामले का समाधान हो सकता है.

यह भी पढ़े -   मशरूम की खेती से हरियाणा के किसान ने कमाए लाखों रुपए, जानिए कैसे शुरू करे यह काम

जमीन के रेट को लेकर चल रही है वार्ता

हरियाणा सरकार ने इस जमीन के लिए 14 हजार रुपए प्रति स्क्वायर मीटर रेट निर्धारित किए हैं लेकिन मारुति प्रबंधन रेट में कमी की मांग कर रहा है. इस मुद्दे को लेकर दोनों के बीच एक बार फिर से बातचीत होने की संभावना है.

हरियाणा सरकार तर्क दें रही है कि जिस जगह पर मारुति उद्योग को जमीन एलॉट की जा रही है वह प्राइम लोकेशन है और दूसरे उधोग के खरीददार मारुति से भी ऊंची कीमत देने को तैयार हैं लेकिन सरकार के सामने मजबूरी यह भी है कि वह मारुति उद्योग को हरियाणा से किसी भी कीमत पर बाहर नही देना चाहती है. मारुति उद्योग के गुजरात शिफ्ट होने के मामले को लेकर विपक्षी दल लगातार प्रदेश सरकार पर निशाना साध रहे हैं. हरियाणा सरकार कह रही है कि जल्द ही इस मसलें को सुलझा लिया जाएगा. मारुति उद्योग का मानेसर प्लांट तो हरियाणा में रहेगा ही, साथ ही खरखौदा में भी उसका विस्तार होना तय है. इस प्लांट के स्थापित होने से हरियाणा के हजारों युवाओं को रोजगार मिल सकेगा.

यह भी पढ़े -   घोटाला : 100 करोड़ से अधिक का हेलमेट घोटाला, हरियाणा में अफसरशाही बने इसके जिम्मेदार

बाईक भी बनाएंगी मारुति कंपनी

बता दें कि 900 एकड़ के इस प्लांट में कार और बाईक एक साथ बनाई जाएगी. मारुति कंपनी 800 एकड़ भूमि पर कार और 100 एकड़ भूमि पर मारुति सुजुकी की बाईक तैयार करने की योजना बना रही है. इसी बीच मारुति प्रबंधन ने भी स्पष्टीकरण दिया है कि वह हरियाणा से अपने उधोग को कही शिफ्ट नहीं कर रही है.

यह भी पढ़े -   दिल्ली में बंद हुआ पेट्रोल और डीजल कमर्शियल वाहनों का प्रवेश, केवल यही वाहन कर पाएंगे एंट्री

बता दें कि कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव रणदीप सुरजेवाला ने मारुति उद्योग के गुजरात शिफ्ट होने के मामले को लेकर हरियाणा सरकार पर निशाना साधते हुए कहा था कि सरकार की गलत उधोग नीति की वजह से आज अनेक उधोग हरियाणा से दूसरी जगह शिफ्ट हो रहें हैं. इस पर डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला ने कहा था कि मारुति उद्योग हरियाणा छोड़कर कही नहीं जा रहा है, विपक्ष लगातार झूठी बयानबाजी कर जनता को गुमराह कर रहा है. मगर अब यह मामला खत्म हो चुका है और मारुति हरियाणा में ही अपने प्लांट का विस्तार करने का निर्णय लें चुकी है.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!