हरियाणा मंत्रिमंडल में बदलाव की अटकलों के बीच राज्यपाल से मिले सीएम मनोहर लाल

Casino

पंचकूला। हरियाणा में कैबिनेट के विस्तार और बदलाव की अटकलों के बीच राज्य के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने बुधवार शाम राज्यपाल सत्यदेव नारायण आर्य से मुलाकात की. मुख्यमंत्री मनोहर लाल के दो दिवसीय दिल्ली दौरे से ठीक पहले राज्यपाल से उनकी मुलाकात को महत्वपूर्ण माना जा रहा है. आज हरियाणा की भाजपा- जजपा गठबंधन सरकार अपने कार्यकाल के 600 दिन पूरे कर रही है. मुख्यमंत्री मनोहर लाल दिल्ली रवानगी से पहले मीडिया से रूबरू होंगे और अपनी सरकार के अहम फैसलों की जानकारी देने के साथ ही भविष्य की योजनाओं का खाका खींचेंगे.

haryana cm office image

दो दिन का रहेगा दिल्ली दौरा

प्रदेश में पिछले काफी समय से मंत्रिमंडल में फेरबदल और विस्तार की चर्चाएं चल रही है. मुख्यमंत्री की राज्यपाल से मुलाकात ने इन अटकलों को वजन देने का काम किया है. 90 सदस्यीय विधानसभा क्षेत्र के हिसाब से 2 मंत्री और शामिल किए जा सकते हैं. एक मंत्री भाजपा तो दूसरा गठबंधन सहयोगी जजपा के कोटे से चुना जाना तय है.

जजपा बढ़ा रही हैं ,अपना मंत्री बनाने का दबाव

उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला दिल्ली में लगातार भाजपा हाईकमान के बड़े नेताओं से मुलाकात कर अपने कोटे से एक मंत्री बनाने का दबाव बना रहे हैं. प्रदेश में चल रहे किसान आंदोलन का दबाव,कोविड के बाद की परिस्थितियां और कोरोना से निपटने हेतु भविष्य की तैयारियां पर चर्चा का दावा करते हुए मुख्यमंत्री मनोहर लाल प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह और भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा से मुलाकात कर चुके हैं. मुख्यमंत्री के मुलाकात से लौटते ही फौरन बाद उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला भाजपा हाईकमान से मिलने दिल्ली पहुंच जाते हैं.

यह भी पढ़े -   हरियाणा के छात्रों के लिए अच्छी खबर, अब सरकारी कार्यालयों में कर सकेंगे इंटर्नशिप, तैयार की गई पॉलिसी

उधर जजपा के विधायक भी मंत्री पद की चाह में उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला पर लगातार दबाव बना रहे हैं. लेकिन अंदरुनी जानकारी से पता चला है कि मुख्यमंत्री मंत्रिमंडल में फेरबदल या विस्तार से पहले बोर्ड और निगमों के चैयरमेन बनाना चाहते हैं ताकि पार्टी के प्रमुख कार्यकर्ताओं और नेताओं को संतुष्ट किया जा सके.

यह भी पढ़े -   हरियाणा में 20 हज़ार परिवारों को मिलेंगे सस्ते मकान, तेज़ी से चल रहा निर्माण कार्य

दुष्यंत चौटाला चाहते हैं कि मंत्रिमंडल विस्तार और बोर्ड एवं निगमों के चैयरमेन साथ-साथ बनाएं जाएं. मुख्यमंत्री बृहस्पतिवार को अपनी गठबंधन सरकार की 600 दिनों की उपलब्धियां गिनाने के तुरंत बाद दो दिवसीय दिल्ली दौरे के लिए रवाना हो जाएंगे. हालांकि उनके दिल्ली दौरे को राज्य सरकार की विभिन्न लटकी परियोजनाओं को गति दिलाने के लिए केन्द्रीय मंत्रियों से मुलाकात के तौर पर बताया जा रहा है.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!