हरियाणा सरकार ने तय किया रोजगार का रोड़मेप, आय बढ़ाने के लिए इन योजनाओं पर शुरू होगा काम

चंडीगढ़ । मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने मंगलवार को हरियाणा भवन में प्रदेश भर से अतिरिक्त जिला उपायुक्तो की बैठक की अध्यक्षता की. इस दौरान सीएम के प्रधान सचिव वी उमाशंकर व सभी उपायुक्तो ने वर्चुअल बैठक से जुड़े. बैठक के दौरान अतिरिक्त जिला उपायुक्तो को निर्देश देते हुए सीएम मनोहर लाल ने कहा कि परिवार पहचान पत्र की तारीफ न केवल प्रदेश में बल्कि देश भर में इसकी चर्चा हो रही है. दूसरे राज्यों के प्रतिनिधि इस रोल मॉडल को अपनाने के लिए इसका अध्ययन करने हरियाणा आ रहे हैं.

cm and dushant

सीएम मनोहर लाल ने कहा कि गरीब परिवारों की आय बढ़ाने के लिए प्रदेश सरकार आने वाले दिनों में नई योजनाओं को धरातल पर उतारने का काम करेगी. सरकार का लक्ष्य पंक्ति में खड़े आखिरी व्यक्ति तक सरकार की योजनाओं का लाभ पहुंचाना है. मुख्यमंत्री ने घोषणा करते हुए कहा कि 7 जनवरी से प्रदेश भर में अंत्योदय मेलों का दूसरा चरण शुरू होगा. इन मेलों के जरिए गरीब परिवारों को रोजगार देने की योजना है.

सीएम मनोहर लाल ने कहा कि सभी का लक्ष्य गरीब और जरूरतमंद परिवारों को आगे बढ़ाना है. हमारी सरकार का प्रयास युवाओं को नौकरी की तरफ नहीं बल्कि रोजगार की तरफ लेकर जाना है ताकि वे नौकरी लेने वालों की बजाय नौकरी देने वालों की कतार में खड़े हो सकें. परिवार पहचान पत्र के चौथे चरण का कार्य प्रगति पर है और आने वाले दिनों में बहुत सी योजनाओं का लाभ इनके माध्यम से मिलने लगेगा.

यह भी पढ़े -   हरियाणा सरकार का फैसला, स्कूली छात्रों के लिए होगी काउंसलर की नियुक्ति

हायर एजुकेशन में जोड़े जाएं सामाजिक कार्यों के नंबर

सीएम मनोहर लाल ने कहा कि स्टूडेंट्स में सामाजिक सेवा व पर्यावरण संरक्षण जैसे सामाजिक विषयों पर भावना जागृत करने के लिए हायर एजुकेशन विभाग को सार्थक पहल करनी चाहिए. उन्होंने कहा कि आने वाले दिनों में ऐसे प्रावधान किए जाएंगे कि यूनिवर्सिटी व कालेजों में स्वच्छता, सफाई अभियान, पौधारोपण व सरकारी योजनाओं से जुड़े कामों के नंबर दिए जाएंगे. उन्होंने सभी जिला उपायुक्तो को समर्पण पोर्टल पर अधिक से अधिक रजिस्ट्रेशन करवाने पर बल देने को कहा.

यह भी पढ़े -   हरियाणा के इस गांव में अनोखा मंदिर, जहां 22 सालों से हों रही है शहीदों की पूजा

134-A की इनकम वेरिफिकेशन जल्द पूरी करें

सीएम मनोहर लाल ने शिक्षा विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि हरियाणा स्कूल शिक्षा नियमों की धारा 134-A के तहत जिन बच्चों का निजी स्कूलों में एडमिशन के लिए चयन हुआ है उनकी इनकम वेरिफिकेशन का काम जल्द से जल्द पूरा किया जाएं. उन्होंने कहा कि निजी स्कूल एडमिशन से इंकार कर रहे हैं और सरकार पर अपना बकाया क्षतिपूर्ति फीस का पैसा देने का दबाव बना रहे हैं.

यह भी पढ़े -   हरियाणा के युवाओं के लिए रोजगार का अवसर, 30 हजार तक होगी सैलरी

सरकार की योजना

• भविष्य में मॉडल संस्कृति स्कूलों की संख्या बढ़ाई जाएगी.

• प्रदेश भर में जिन लोगों के पास जन्म तिथि का कोई प्रूफ नहीं है, उन लोगों की जन्मतिथि को सत्यापित करने का कार्य भी शुरू किया जाएगा. इसके लिए क्या प्रणाली अपनाई जाएगी, उस पर जल्द विचार कर निर्णय लिया जाएगा.

• जिनके पास जन्मतिथि का प्रमाण नहीं, उनकी भी सुनेगी सरकार.

• 15 से 18 वर्ष के किशोरों व युवाओं का तीन जनवरी से कोरोना टीकाकरण शुरू हो जाएगा.60 वर्ष से अधिक आयु व गंभीर बीमारी से ग्रस्त लोगों को 10 जनवरी से बूस्टर डोज लगनी शुरू होगी.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!