युवाओं के लिए बड़ी खुशखबरी, स्वरोजगार के लिए बैंक लोन की गारंटर बनेगी हरियाणा सरकार

चंडीगढ़ | हरियाणा की मनोहर सरकार ने स्वरोजगार अपनाकर आत्मनिर्भर बनने वाले युवाओं के कल्याण के लिए बड़ा कदम उठाया है. प्रदेश सरकार स्वरोजगार को अपनाने वाले लोगों को लोन लेने के बैंक गारंटी देगी. सरकार के इस फैसले से उन्हें बैंकों से लोन हासिल करना आसान हो जाएगा. सीएम मनोहर लाल ने मुख्यमंत्री सुशासन सहयोगियों (सीएमजीजीए) के छठे बैच के समापन कार्य पर उन्हें संबोधित करते हुए यह ऐलान किया है.Webp.net compress image 11

पीपीपी के माध्यम से मिले लाभ

इस दौरान सीएम मनोहर लाल ने कहा कि परिवार पहचान पत्र (पीपीपी) के माध्यम से जरुरतमंद पात्र इस योजना का लाभ उठा सकें ,यह सुनिश्चित करने के लिए इस योजना की मॉनिटरिंग की जाएगी. बता दें कि हरियाणा में इस योजना की शुरुआत सीएम के तत्कालीन अतिरिक्त प्रधान सचिव डा. राकेश गुप्ता ने शुरू की थी, जिसका संचालन अब परियोजना निदेशक के रूप में डा. अमित अग्रवाल कर रहे हैं.

यह भी पढ़े -   रक्षाबंधन पर महिलाओं के लिए फ्री बस यात्रा आज से शुरू, कल 12 बजे तक रहेगी फ्री बस सेवा

सीएम मनोहर लाल ने कहा कि सुशासन सहयोगियों द्वारा सरकार से जुड़कर उसकी योजनाओं का सही तरीके से अमलीजामा पहनाना बेहद ही काबिले तारीफ है . सुशासन सहयोगियों के निरंतर कार्य करने से ही पीपीपी, मुख्यमंत्री अंत्योदय परिवार उत्थान जैसी कारगर योजनाओं को सही ढंग से धरातल पर उतारने में कामयाबी हासिल की जा सकी है. सुशासन सहयोगियों की मदद से ही इन योजनाओं के तहत लक्ष्य हासिल करने में सफलता मिली है.

सीएम मनोहर लाल ने कहा कि हरियाणा के पीपीपी मॉडल की प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी भी जमकर सराहना कर चुके हैं और कई राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने इस मॉडल को अपने राज्य में लागू करने की बात कहीं है. इन राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने हरियाणा में टीम भेजकर इस योजना के प्रारूप और क्रियान्वयन को भी समझा है. यहीं नहीं सीएमजीजीए प्रोजेक्ट को भी कई राज्यों की सरकार ने अपने यहां अपनाया है.

यह भी पढ़े -   HBSE Compartment Result 2022: हरियाणा बोर्ड का रिजल्ट जारी, ऐसे चेक करें परिणाम

अपनाया जाएगा सिबिल स्कोर मॉडल

सीएम मनोहर लाल ने कहा कि प्रदेश में बैंकों की तर्ज पर हरियाणा सिबिल स्कोर मॉडल अपनाया जाएगा ताकि सिबिल स्कोर के माध्यम से बैंकों से लोन जैसी सुविधाएं उपलब्ध कराने का एक ढांचा तैयार किया जा सकें. वर्तमान में सीएमजीजीए प्रोजेक्ट के डायरेक्टर डॉ अमित अग्रवाल ने कहा कि पिछले एक साल के दौरान हासिल की गई सीख, अनुभव और योगदान भविष्य के लिए योजनाएं बनाने में मददगार साबित होंगे.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!