हाईकोर्ट: बिना आधार कार्ड व फैमिली आईडी के सीईटी में आवेदन प्राथमिक तौर पर स्वीकार करने के निर्देश

Casino

चंडीगढ़ । हरियाणा में ग्रुप सी और डी पदों के लिए होने वाले कॉमन एलिजिबिलिटी टेस्ट के लिए आधार कार्ड और फैमिली आईडी की अनिवार्यता को लेकर पंजाब एंड हरियाणा हाईकोर्ट में याचिका दाखिल की गई थी. मंगलवार को याचिका पर प्राथमिक सुनवाई के बाद जस्टिस अरुण मोंगा ने याचिकाकर्ताओं को फिलहाल राहत प्रदान करते हुए उनके आवेदन प्राथमिक तौर पर स्वीकार करने के निर्देश दिए हैं.

यह भी पढ़े -   गुरुग्राम, फरीदाबाद सहित शहरों को लाल डोरा मुक्त करने की तैयारी, कैबिनेट मीटिंग में लाया जाएगा अध्यादेश

HIGH COURT
हाईकोर्ट ने इसके साथ ही स्पष्ट किया कि याचिका दायर करने वालों का परीक्षा परिणाम सील कवर में रहेगा और हाईकोर्ट के अंतिम निर्णय पर यह निर्भर करेगा. पंजाब एंड हरियाणा हाईकोर्ट ने साथ ही हरियाणा सरकार और हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग को नोटिस जारी कर इस मामले में जवाब-तलब किया है.

यह भी पढ़े -   5 अगस्त को होगी हरियाणा कैबिनेट की बैठक, मानसून सत्र व पंचायत चुनावों को लेकर हो सकती है रणनीति तैयार

याचिकाकर्ता हिसार निवासी जगदीप सिंह व अन्य की तरफ से कोर्ट में दायर याचिका में कहा गया कि हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग ने ग्रुप सी और डी पदों पर भर्ती हेतु कॉमन एलिजिबिलिटी टेस्ट कराने का निर्णय लिया है. इस टेस्ट के लिए फॉर्म भरने के वक्त आधार कार्ड और फैमिली आईडी को अनिवार्य किया गया है.

फॉर्म भरने की आखिरी तारीख 30 जून है. ऐसे में जिन उम्मीदवारों के पास कोई आईडी प्रूफ नहीं है, वें टेस्ट में शामिल नहीं हो पाएंगे. कोरोना काल के चलते कई उम्मीदवार ऐसे भी हैं जिनके पास कोई आईडी प्रूफ नहीं है. इसलिए इस शर्त को खारिज किया जाएं और सभी उम्मीदवारों के आवेदन मंजूर किए जाएं.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!