हरियाणा में राजस्व रिकॉर्ड में किया जाएगा डिजिटल, सरकार का विश्वास भ्रष्टाचार होगा कम

चंडीगढ़ | हरियाणा में राजस्व रिकॉर्ड भी सरकार द्वारा डिजिटल किया जाएगा. राजेश्वरी को डिजिटल होने से भ्रष्टाचार प्रदेश में कब होगा. सरकार की जानकारी के अनुसार 15 नवंबर तक प्रदेश के सभी जिलों में शुरू हो जाएगा राजस्व रिकॉर्ड रूम. हरियाणा सरकार ने डिजिटलाइजेशन की ओर एक बड़ा कदम उठाया अब राजस्व रिकॉर्ड को भी डिजिटल कर दिया जाएगा. राजस्व रिकॉर्ड के डिजिटल होने के कारण जमीनी विवाद व झगड़े खत्म हो जाएंगे. प्रदेशवासियों को काफी सरलता होगी राजस्व विभाग से संबंधित अपने कार्य को करवाने के लिए.

यह भी पढ़े -   बुलेट से पटाखे बजाने पड़े महंगे, ट्रैफिक पुलिस ने काटे 63 हजार के चालान

haryana cm

राजस्व रिकॉर्ड डिजिटल करने के पीछे कारण

इस संदर्भ में सरकार का मुख्य तड़के हैं की राजस्व रिकॉर्ड के डिजिटल करने से प्रदेश के नागरिकों को काफी सुविधा होगी. इसके फलस्वरूप जमीनी विवाद के जितने झगड़े देखने को मिलते थे वह भी खत्म हो जाएंगे.

राजस्व रिकॉर्ड डिजिटल होने से क्या होंगे फायदे

  • 100 वर्ष पुराना 97% रिकॉर्ड को भी कंप्यूटर के माध्यम से डिजिटल किया जाएगा.
  • साढ़े 17 करोड़ से अधिक दस्तावेजों को भी अपलोड किया जाएगा. जिससे नागरिकों को दस्तावेजों को देखने में सहूलियत होगी.
  • डिजिटल रिकॉर्ड बनाने से पुराने विवादों को हल करने में भी सहायता मिलेगी.
  • आने वाली 15 नवंबर से प्रारंभ होंगी राजस्व रिकॉर्ड रूम बनाने की प्रक्रिया.
यह भी पढ़े -   हरियाणा में होगा मौसम में परिवर्तन, मौसम विभाग ने दी जानकारी

हरियाणा सरकार ने इस विषय पर ध्यान दिया और यह पाया कि राजस्व रिकॉर्ड से संबंधित दस्तावेजों को नागरिकों को देखने या प्राप्त करने की प्रक्रिया काफी समय लगने वाली है. इसी प्रक्रिया को सरल करने के लिए प्रदेश सरकार ने प्रदेश वासियों के लिए राजस्व रिकॉर्ड को डिजिटल करने का प्रमुख निर्णय लिया है.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!