केन्द्र सरकार का आश्वासन: हरियाणा को नहीं रहेगी कोयलें की किल्लत, केन्द्रीय मंत्री से मिले हरियाणा के बिजली मंत्री

चंडीगढ़ । देशभर में कोयलें की कमी से मचे हाहाकार के बीच हरियाणा के बिजली मंत्री रणजीत चौटाला ने दिल्ली में केन्द्रीय ऊर्जा मंत्री आरके सिंह से मुलाकात की. मुलाकात के दौरान दोनों नेताओं के बीच कोयला स्टॉक से लेकर तमाम अन्य मुद्दों पर चर्चा हुई.

Electricity Board

इस दौरान केन्द्रीय मंत्री ने आश्वासन दिया कि हरियाणा को कोयलें की आपूर्ति सुचारू रूप से मिलती रहेगी. कोयलें की कमी से हरियाणा के बिजली उत्पादन को प्रभावित नहीं होने दिया जाएगा. आगामी एक सप्ताह के भीतर हरियाणा को जरुरत के हिसाब से कोयला उपलब्ध करवा दिया जाएगा. वहीं इस मुलाकात के बाद प्रदेश के बिजली मंत्री रणजीत सिंह चौटाला ने दावा करते हुए कहा कि प्रदेश में कोयलें की कमी से बिजली आपूर्ति प्रभावित नहीं होने दी जाएगी. इसके लिए पहले ही जरुरी इंतजाम कर लिए गए हैं. प्रदेश के लोगों की दीवाली जगमग रहेगी.

यह भी पढ़े -   हरियाणा सरकार ने बड़े पैमाने पर किया आईएएस अधिकारियों का तबादला

बता दें कि प्रदेश में इस समय 6 हजार मेगावाट बिजली की डिमांड हर रोज चल रही है और इतनी ही बिजली की आपूर्ति उपभोक्ताओं को सप्लाई की जा रही है और इन्हीं संभावित परिस्थितियों को देखते हुए रणजीत चौटाला ने दिल्ली में केन्द्रीय ऊर्जा मंत्री आरके सिंह से मुलाकात की है. बिजली मंत्री ने कहा कि केन्द्रीय मंत्री ने आश्वस्त किया है कि आगामी कुछ दिनों में प्रदेश को रोजाना 4 रैक की बजाय 8 रैक मिलने चाहिए.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि कोयलें की कमी के चलते अडानी कंपनी ने 1424 मेगावाट रोजाना की बिजली आपूर्ति बंद की हुई है. यह आपूर्ति कब तक शुरू हो पाएंगी इसके बारे में अभी कोई जानकारी नहीं है. इस आपूर्ति के बंद होने के पीछे की वजह आस्ट्रेलिया में कोयलें के रेट में बढ़ोतरी होना हैं क्योंकि अडानी के प्लाटों में विदेशी कोयलें का इस्तेमाल किया जाता है.

यह भी पढ़े -   हरियाणा में मनोहर कैबिनेट में बड़े बदलाव को लेकर संशय बरकरार, पीएम ने सीएम पर छोड़ा फैसला

जगमग दिवाली के दावे

बिजली मंत्री रणजीत चौटाला ने निर्देश दिए हैं कि पावर जनरेशन के लिए सभी प्लांटों को चालू हालत में रखा जाएं ताकि जरूरत पड़ने पर प्रदेश में ही बिजली उत्पादन शुरू किया जा सके. प्रदेश के पास कुल बिजली क्षमता 12 हजार मेगावाट से अधिक है और फिलहाल मौसम में ठंड बढ़ने के चलते प्रदेश में बिजली की मांग आधी हैं. हालांकि दिवाली पर यह डिमांड बढ़कर 10 हजार मेगावाट तक पहुंच सकती है ,इसी लिए विभाग पहले से ही अपनी तैयारियों में जुट गया है. बिजली मंत्री ने कहा कि केन्द्रीय मंत्री ने आश्वस्त किया है कि हरियाणा को एक सप्ताह के भीतर कोयला और अधिक मात्रा में मिल जाएगा और प्रदेश में दिवाली पूरी तरह से जगमग होगी.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!