अब गांव-गांव जाकर बीमार व्यक्तियों का डाटा किया जाएगा इक्क्ठा, आदेश जारी

चरखी दादरी । शहरों की तर्ज पर अब गांवों में भी स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए स्वास्थ्य विभाग ने कमर कस ली है. कोरोना महामारी के चलते हल्के लक्षण वाले मरीजों का डाटा इकट्ठा करने के लिए गांवों में रेडक्रॉस और भारत स्काउट गाइड के वालंटियर ग्राम सचिव व पटवारियों का सहयोग करेंगे. कैंप कार्यालय में आयोजित हुई बैठक में उपायुक्त ने सभी वालंटियर्स को ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना महामारी के खिलाफ जागरूकता अभियान चलाने के लिए प्रोत्साहित किया.

यह भी पढ़े -   हरियाणा में लॉकडाउन को लेकर नई टाइमिंग जारी, इन नियमों में किया गया बदलाव

corona checkup

उपायुक्त ने कहा कि रेडक्रॉस व भारत स्काउट गाइड के वालंटियर गांवों का दौरा करेंगे तथा जुकाम, खांसी व बुखार आदि से ग्रस्त लोगों का डाटा इकट्ठा करेंगे. उन्होंने वालंटियर्स को सुझाव दिया कि बीमारी से ग्रस्त व्यक्तियों की जानकारी संबंधित गांव के ग्राम सचिव व पटवारी को उपलब्ध कराएं.उपायुक्त ने ग्रामीणों के नाम संबोधन में कहा कि हल्के लक्षण वाले मरीजों का कोविड टेस्ट करवाना और उन्हें घर में ही एकांतवास में रहने की बहुत सख्त जरूरत है. यदि परिवार से कोई एक व्यक्ति भी संक्रमित नजर आए तो उसके लिए अलग कमरे में रहने की व्यवस्था की जाए तथा नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र में इसकी सूचना तुरंत दी जाएं.

इससे बीमार व्यक्ति की तत्काल जांच हो सकेगी और सही समय पर उसका उपचार किया जा सकेगा. उन्होंने कोरोना महामारी को लेकर लोगों को सचेत करते हुए कहा कि लोग इसे हल्के में ना लें और एक योग्य चिकित्सक की देख-रेख में अपना इलाज करवाएं. समय पर इलाज कराने से परिवार के और सदस्य बीमार होने या कोरोना संक्रमित होने से बच जाएंगे.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!