ग्रामीणों ने किया 500 बेड के कोविड अस्पताल बनाने का विरोध, जमीन मालिक बोला प्रशासन ने बनाया दबाव

मतलोड़ा । गांव बाल जाटान के पास 500 बेड का कोविड अस्पताल बनाया जा रहा है . जिसका मंगलवार को ग्रामीणों ने जमकर विरोध किया. जमीन के मालिक चांदी ने आरोप लगाया कि सोमवार को प्रशासन द्वारा उन पर दबाव बनाकर उनकी मलकियत जगह पर अस्पताल बनाने के लिए कार्यवाही की गई. सोमवार को ही सीएम मनोहर लाल गांव में पहुंचे और निरीक्षण किया.

यह भी पढ़े -   हरियाणा की पहली जेल जहां 24 घंटे में ही कोरोना पॉजिटिव मिले 134 कैदी

hospital 2

ग्रामीणों द्वारा किया जा रहा है अस्पताल बनाने का विरोध 

बता दे कि ऑक्सीजन प्लांट के पास ही अस्पताल बनाने का फैसला किया गया है. ग्रामीणों ने इसका विरोध करते हुए वहां पर हंगामा कर दिया. उन्होंने कहा कि कोविड अस्पताल होने से गांव में बीमारी फैल जाएगी. प्रशासन पहले से ही चयनित जगह पर अस्पताल बनवाए. ग्रामीणों ने कहा कि गांव के नजदीक अगर अस्पताल बनता है तो इससे गांव में बीमारी फैलने का खतरा है. जिसकी वजह से बच्चे और बूढ़े आसानी से बीमारी की चपेट में आ जाएंगे.

यह भी पढ़े -   कोरोना की चैन तोड़ने के लिए 21 दिन का सम्पूर्ण लाकडाउन लगा सकती है मोदी सरकार, सेना को किया गया है अलर्ट

इस मामले की सूचना मिलते ही बीडीपीओ अजय छिकारा और नायब तहसीलदार अजय सिंह ने ग्रामीणों को समझाने के काफी प्रयास किए, लेकिन ग्रामीण अपनी मांगों पर अड़े हुए हैं. ग्रामीणों ने बताया कि ऑक्सीजन प्लांट से 1.5 किलोमीटर दूर अस्पताल बनाने के लिए पहले जगह चयनित की गई थी. उसी जगह पर ही अस्पताल को बनाया जाए. जो जगह सोमवार को चयनित की गई थी, उसमें से चांदी की 2 एकड़,महासिंह की 2 एकड़, टेकराम की 3 एकड़ जमीन आ रही है.वह किसी भी कीमत पर अपनी जमीन पर अस्पताल नहीं बनने देंगे.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!