WhatsApp के UPI यूजर्स के लिए जरूरी खबर, अब पेमेंट के दौरान करना होगा ये काम

चंडीगढ़ | WhatsApp ने उन उपयोगकर्ताओं के “कानूनी” नामों की पहचान करना शुरू कर दिया है जिन्होंने अपने ऐप पर यूनिफाइड पेमेंट्स इंटरफेस यानि यूपीआई आधारित भुगतान सुविधा शुरू की है. कई मामलों में यह देखा गया है कि ऑनलाइन भुगतान प्रणाली का उपयोग करने वाले कुछ उपयोगकर्ताओं के अलग-अलग प्रोफ़ाइल नाम और अलग-अलग बैंक खाते हैं. व्हाट्सएप इन नामों का पता लगाएगा और उन लोगों को दिखाएगा जो WhatsApp के माध्यम से भुगतान प्राप्त करते हैं. मेटा के स्वामित्व वाले इंस्टेंट मैसेजिंग ऐप ने कहा कि नया कदम नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया द्वारा निर्धारित यूपीआई दिशानिर्देशों का परिणाम है. जिसका उद्देश्य धोखाधड़ी को रोकना है.

यह भी पढ़े -   Jio, Airtel और Vi के प्लान्स होंगे इतने महंगे, देखकर ही छूट जाएंगे पसीने

WhatsApp

नए अपडेट के बारे में यूजर्स को सूचित करने के लिए व्हाट्सएप ने अपने ऐप में एक नोटिफिकेशन जारी करना शुरू कर दिया है, जिसमें कानूनी नाम की आवश्यकता का विवरण देने वाले अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न का लिंक होता है. इसका सबसे बड़ा फायदा यह होगा कि जब कोई यूजर व्हाट्सएप के जरिए पेमेंट करेगा तो वह यूपीआई यूजर्स का लीगल नाम देख सकेगा, जिसे वह पेमेंट कर रहा है.

एनपीसीआई ने जारी की गाइडलाइंस

एनपीसीआई की ओर से जारी गाइडलाइंस के बाद मार्च के अंत से एंड्रॉयड और आईओएस दोनों पर यूजर्स के लिए नोटिफिकेशन शुरू कर दिया गया है. यह व्हाट्सएप के हेल्प सेक्शन में एक नए शॉर्टकट के रूप में दिखाई देता है, जिसका नाम अबाउट यूपीआई पेमेंट्स और कानूनी नाम है, जो एफएक्यू पेज का लिंक देता है. इसमें सवाल पूछा गया है- आपके बैंक खाते से जुड़ा नाम वह नाम है जिसे साझा किया जाएगा.

यह भी पढ़े -   FasTag रिचार्ज करवाते समय इन जरूरी बातों का रखें ध्यान, वरना नहीं होगा रिचार्ज

आमतौर पर व्हाट्सएप यूजर्स के पास 25 अक्षरों तक का कोई भी नाम चुनने का विकल्प होता है, जिसे वे ऐप पर इस्तेमाल करना चाहते हैं. उपयोगकर्ता खुद को अलग दिखाने के लिए अपने प्रोफ़ाइल नाम में इमोजी भी शामिल कर सकते हैं. हालाँकि नई आवश्यकता ने ऐप के लिए अपने उपयोगकर्ताओं के वास्तविक नामों को उनके बैंक खातों के अनुसार पहचानना और साझा करना अनिवार्य कर दिया है.

यह भी पढ़े -   FasTag रिचार्ज करवाते समय इन जरूरी बातों का रखें ध्यान, वरना नहीं होगा रिचार्ज

व्हाट्सएप के अनुसार धोखाधड़ी को रोकने के लिए यूपीआई दिशानिर्देशों के तहत लेन-देन के दौरान उपयोगकर्ता का नाम भुगतानकर्ता को दिखाया जाएगा. व्हाट्सएप यूपीआई पिन स्क्रीन पर यूजर्स का नाम दिखाता है. हालाँकि अन्य UPI आधारित भुगतान ऐप्स को साइनअप के समय उनके कानूनी नाम सहित सही विवरण की आवश्यकता होती है.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!