हिसार में सब्जियों के बढ़े दाम, उत्पादन कम होने का ये है कारण

हिसार | ठंड के बीच पिछले कुछ दिनों में सब्जियों और फलों के दाम बढ़ गए हैं. महंगाई का असर व्यापारियों की आय पर भी पड़ा. सबसे ज्यादा मुश्किल पीजी संचालकों या होटल मालिकों के लिए हो गई है, क्योंकि उन्हें हर दिन सब्जियां खरीदनी पड़ रही हैं. महंगाई का असर व्यापारियों की आय पर भी पड़ा है. व्यापारियों के मुताबिक, स्थानीय या आसपास सब्जी का उत्पादन कम हो गया है.

Vegetable Fruit Sabji

डेढ़ से दो गुना हुए दाम

फूलगोभी, टमाटर, मिर्च और गाजर के दाम डेढ़ से दो गुना तक बढ़ गये हैं. कारण यह है कि टमाटर नासिक से और मिर्च राजस्थान से आती है. इसका असर उपभोक्ताओं की जेब पर पड़ेगा. हिसार और आसपास के इलाकों में धनिया, मूली, गाजर, हरा प्याज और पत्तागोभी जैसी सब्जियों की खेती काफी कम हो गई है.

राजस्थान और गुजरात से आ रही सब्जी

ऐसे में इन दिनों ज्यादातर सब्जियां राजस्थान और गुजरात से आ रही हैं. इस वजह से कीमतों में बढ़ोतरी हो रही है. सब्जियों के महंगे होने का एक मुख्य कारण यह भी है कि जहां पहले सब्जियों की खेती होती थी, आज वहां प्लॉट या गोदाम बन गये हैं.

प्रधान ने कही ये बात

सब्जियां महंगी हो गई हैं. इसका असर काम पर भी पड़ा है. नासिक के टमाटर ज्यादा ताकतवर होते हैं. ज्यादातर सब्जियां राजस्थान से आती हैं. सब्जी की खेती कम है और मांग ज्यादा है- सुरेश कुमार जुनेजा, प्रधान, नई सब्जी मंडी

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!