करनाल: 5वीं कक्षा की बच्ची लेती हैं 10वीं तक की क्लास, नन्ही शिक्षक की प्रतिभा का हर कोई कायल

करनाल | सीएम सिटी करनाल ज़िले का एक गांव कोहंड, जिसे गूगल ब्वॉय कौटिल्य पंडित की अद्भुत प्रतिभा ने पहचान दिलाई थी. अब उसी गांव से एक नौ साल की बच्ची कुशाग्र बुद्धि से बड़ों- बड़ों को मात दे रही है. पांचवीं कक्षा में पढ़ने वाली जीविका नाम की यह बच्ची पढ़ाई में अपने टीचर्स को मात दे रही है. यह बच्ची भी उसी स्कूल में पढ़ रही है,जिस स्कूल से कौटिल्य पंडित ने शिक्षा ग्रहण की थी.

Jivika Teacher Karnal

महज नौ साल की उम्र में जीविका मानचित्र में किसी भी देश को आसानी से ढूंढ लेती है और अंतरिक्ष विज्ञान के कई विषयों पर उसकी जबरदस्त पकड़ है. 12वीं तक की तत्व सारिणी उसकी अंगुलियों पर हैं तो दसवीं कक्षा तक का गणित चुटकियों में हल कर देती है. कई प्रसिद्ध कवियों की कविताओं को कंठस्थ कर चुकी जीविका बड़े होकर IAS बनने का सपना संजोए कड़ी मेहनत कर रही है.

महज 45 सेकेंड में हल करती पीरियाडिक टेबल

जीविका की प्रतिभा को देख कर लगता है कि वह अपनी उम्र से कहीं आगे निकल चुकी है. जिन सब्जेक्ट पर बारहवीं कक्षा उत्तीर्ण स्टूडेंट्स को समझ नहीं है, उन सब्जेक्ट में जीविका अभी से महारत हासिल कर चुकी हैं. जीविका को विज्ञान विषय में विशेष रुचि है. वह विज्ञान में मोशन, हार्ट, सेल, ओर्गन सिस्टम, ब्लड व साउंड विषय की व्याख्या स्पष्टता के साथ करती है. वह तत्वों की आवर्त सारणी ( पीरियाडिक टेबल) महज 45 सेकंड में बोल लेती है. वह बड़े ही रोचक अंदाज में बिग बैंग थ्योरी से अंतरिक्ष निर्माण की जानकारी देती है.

यह भी पढ़े -   भाजपा नेता कुलदीप बिश्नोई ने पूर्व सीएम भूपेंद्र हुड्डा पर बोला तीखा हमला, कही ये बड़ी बात

जीविका भारतीय हिस्ट्री से भी विशेष लगाव रखती है. उसे मानव के क्रमिक विकास से लेकर पाषाण युग एवं सभ्यताओं के बारे में गहन जानकारी है. सोलह महाजनपदों से लेकर नंंद व मौर्य वंश, गुप्तकाल एवं सम्राट हर्षवर्धन तक सब जानकारी वह विस्‍तार से देती है. जीविका के गुरु सतीश शर्मा ने बताया कि जीविका को देहरादून के इंडियन पब्लिक स्कूल से छात्रवृत्ति पर दाखिला लेने का आफर भी मिला है.

यह भी पढ़े -   भाजपा नेता कुलदीप बिश्नोई ने पूर्व सीएम भूपेंद्र हुड्डा पर बोला तीखा हमला, कही ये बड़ी बात

एक प्रोफेशनल टीचर की तरह पढ़ाना

जीविका ने अपने हुनर से यह साबित कर दिया है कि प्रतिभा दिखाने की कोई उम्र नहीं होती है. बच्चों के खेलने- कूदने की उम्र में इस बच्ची ने अध्यापन को एक प्रोफेशन बना लिया है और वह कक्षा में बच्चों को विज्ञान एवं सामाजिक विज्ञान के सवालों का झट से जवाब देती है. नौवीं तथा दसवीं कक्षा के बच्चों को जीविका एक प्रोफेशनल टीचर की तरह पढ़ाती है. यदि कोई अंजान व्यक्ति इस बच्ची को क्लास लेते हुए देख लें तो वो एक पल के लिए हैरान रह जाता है.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!