लाठीचार्ज पर सीएम मनोहर लाल का बड़ा बयान, “हाईवे रोकोगे तो पीटें जाओगे”

करनाल । तीनों कृषि कानूनों को लेकर किसान पिछले नौ महीनों से देश व प्रदेश की बीजेपी सरकार का विरोध कर रहे हैं. संयुक्त किसान मोर्चा के आह्वान पर हरियाणा में भी बीजेपी जेजेपी नेताओं का विरोध लगातार जारी है. दोनों पार्टियों के प्रोग्रामों का किसानों द्वारा विरोध किया जा रहा है. इसी संबंध में करनाल में बीजेपी की प्रदेश कार्यकारिणी की मीटिंग का भी किसानों ने विरोध करने का फैसला लिया था. मुख्यमंत्री मनोहर लाल के कार्यक्रम की सूचना मिलते ही हजारों की संख्या में किसान बसताड़ा टोल प्लाजा पर इक्कठा हुएं तो पुलिस प्रशासन द्वारा किसानों पर जमकर लाठियां भांजी गई जिसमें कई किसानों को गंभीर चोटें आई हैं.

यह भी पढ़े -   शर्मनाक: दिल्ली पुलिस के जवान की हैवानियत, 3 बेटियां होने पर पत्नी को दिया ज़हर

Haryana CM Press Conference

वहीं किसानों पर किए गए इस अत्याचार के बाद सीएम मनोहर लाल की प्रतिक्रिया भी सामने आई है. मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि सरकारी कामकाज में व्यवधान उत्पन्न करना लोकतंत्र के खिलाफ है. किसानों के शांतिपूर्ण तरीके से विरोध प्रदर्शन करने में हमें कोई आपत्ति नहीं थी लेकिन प्रदर्शन के नाम पर हंगामा खड़ा करना कहां तक उचित है. अगर किसान नेशनल हाईवे जाम करते हैं और पुलिस पर पथराव करते हैं तो पुलिस भी कानुन व्यवस्था बनाए रखने के लिए कदम उठाएंगी. हम इस मामले पर लगातार नजर बनाए हुए हैं और जो भी दोषी होगा उसके खिलाफ आवश्यक कार्रवाई की जाएगी.

यह भी पढ़े -   भिवानी के देवसर गांव में गिरी आसमानी बिजली, दो लोगों की मौके पर मौत 4 घायल

बता दें कि निकाय चुनावों को लेकर करनाल के होटल प्रेम प्लाजा में बीजेपी प्रदेश कार्यकारिणी की अहम बैठक हो रही थी. इस बैठक में मुख्यमंत्री मनोहर लाल, प्रदेश अध्यक्ष ओमप्रकाश धनखड़ समेत कई विधायक शामिल हुएं थे.

बता दें कि किसानों ने बीजेपी पार्टी के इस कार्यक्रम के विरोध करने का पहले ही ऐलान कर दिया था. हजारों की संख्या में किसान बसताड़ा टोल प्लाजा पर इकट्ठा हुए थे और किसानों को रोकने के लिए पुलिस ने लाठीचार्ज किया था.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!