पर्यटक अब 15 मई तक नहीं कर सकेंगे ताजमहल का दीदार, जानिए वजह

नई दिल्ली। कोरोना वायरस की दूसरी लहर के चलते हर रोज कोरोना संक्रमितों केसों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है. इसी को ध्यान में रखते हुए प्रदेश के कई राज्यों में साप्ताहिक लाकडाउन भी लगा दिया गया है. वहीं,अब पर्यटन पर भी कोरोना महामारी की दूसरी लहर का असर देखने को मिल रहा है. खबरों से मिली जानकारी के अनुसार भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग ने देश के सभी स्मारकों, संग्रहालयों और संरक्षित स्थलों को बंद करने का निर्णय लिया है.

यह भी पढ़े -   किसानों के लिए खुशखबरी हरियाणा सरकार जल्द देने वाली है ट्यूबवेल कनेक्शन

TAJMAHAL

इसका मतलब यह है कि अब आप ताजमहल समेत सभी स्मारकों का दीदार 15 मई तक नहीं कर सकेंगे. इस दौरान पर्यटकों के प्रवेश पर प्रतिबंध रहेगा. वहीं सोमनाथ मंदिर और पूरी जगन्नाथ मंदिर में रोजाना पूजा अर्चना होगी, लेकिन श्रद्धालुओं के मंदिर प्रवेश पर रोक रहेगी.
देश की राजधानी दिल्ली में 170 ऐतिहासिक स्थल है. इनमें कुतुबमीनार, हुमायूं का मकबरा और लाल किला प्रमुख हैं. इन जगहों पर तकरीबन हर रोज 10 हजार पर्यटन रोजाना आते हैं. कोरोना महामारी के चलते इन सभी को भी 15 मई तक बंद कर दिया गया है. कोरोनावायरस महामारी के चलते पिछले साल भी देश के सभी स्मारक स्थलों को मार्च के महीने में बंद किया गया था.

यह भी पढ़े -   कोरोना की चैन तोड़ने के लिए 21 दिन का सम्पूर्ण लाकडाउन लगा सकती है मोदी सरकार, सेना को किया गया है अलर्ट

खबरों की मानें तो कोरोनावायरस संक्रमितों के मामले में भारत दूसरे पायदान पर पहुंच गया है. वहीं संयुक्त राज्य अमेरिका पहले स्थान पर है. भारत में संक्रमितों की संख्या में बढ़ोतरी के चलते भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग ने यह फैसला लिया है.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!