अब मेट्रो स्टेशनों से घर और दफ्तर पहुंचना होगा आसान, जानिए क्या है योजना

नई दिल्ली | मेट्रो स्टेशनों पर 300 मीटर के दायरे में सार्वजनिक वाहन उपलब्ध कराने की दिशा में एक नई पहल पर काम शुरू हो गया है. इसके लिए 96 मेट्रो स्टेशनों पर मल्टी माडल इंटीग्रेशन (एमएमआइ) प्रणाली लागू की जा रही है. इनमे से 59 स्टेशनों पर यह काम पूरा हो चुका है और दस स्टेशनों के लिए निविदा जारी कर दी गई है. इस सुविधा के उपलब्ध होने से मेट्रो में सफर करने वाले यात्रियों को फायदा पहुंचेगा. लोग आसानी से अपने घर या कार्यालय पहुंच सकेंगे.

यह भी पढ़े -   किसान खरबूजे की खेती कर ऐसे हो सकते हैं मालामाल, जानिए तरीका

Delhi Metro

बता दें कि दिल्ली के कई क्षेत्रों में अभी तक भी मेट्रो नहीं पहुंची है. ऐसे में लोगों को कई किलोमीटर का सफर तय कर मेट्रो स्टेशन पहुंचना पड़ता है. सार्वजनिक वाहन की सुविधा उपलब्ध न होने से उन्हें कई तरह की परेशानियों से जूझना पड़ता है. इसी परेशानी को दूर करने के लिए एमएमआई प्रणाली को लागू किया जा रहा है. इस प्रणाली के तहत मेट्रो स्टेशन से लास्ट माइल कनेक्टिविटी को सुनिश्चित किया जाएगा और लोगों के लिए बस, आटो, ई-रिक्शा की सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी.

दिल्ली मेट्रो रेल निगम (डीएमआरसी) के प्रधान कार्यकारी निदेशक अनुज दयाल ने बताया है कि एमएमआइ सार्वजनिक परिवहन के सदुपयोग का सबसे बेहतर तरीका हैं और इसे लागू करने के लिए डीएमआरसी हरसंभव कोशिश कर रहा है. इसके साथ ही स्टेशनों के सुंदरीकरण के लिए भी काम किया जा रहा है.

यह भी पढ़े -   सरसों तेल से लेकर आटा, दाल, चीनी सभी का भाव छू रहा है आसमान, जानें क्या है वजह

दस स्टेशनों पर खर्च होंगे 24 करोड़

अनुज दयाल ने बताया कि जनकपुरी ईस्ट, उत्तम नगर वेस्ट, द्वारका मोड़, नेहरू प्लेस, नवादा, शाहदरा, शास्त्री पार्क, शास्त्री नगर, जहांगीरपुरी और करोलबाग मेट्रो स्टेशनों पर एमएमआइ लागू करने के लिए 24.28 करोड़ रुपये खर्च होंगे. दिल्ली मेट्रो रेल निगम द्वारा इसके लिए निविदा जारी की गई है.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!