बर्ड फ्लू से इस साल की पहली मौत, हरियाणा के 11 साल के बच्चे ने दिल्ली AIIMS में तोड़ा दम

Casino

नई दिल्ली | पूरे भारत देश में अभी भी कोरोना महामारी का संक्रमण जारी है लेकिन इस बीच एवियन एंफ्लुएंजा (बर्ड फ्लू) से देश में हुई पहली मौत के बाद इस बीमारी के संक्रमण का भी खतरा बढ़ गया है. यूं तो सामान्यता बर्ड फ्लू का संक्रमण इंसानों में नहीं होता लेकिन संक्रमित हो जाने की स्थिति में यह काफी खतरनाक साबित हो सकता है.

aiims

भारत में इस साल बर्ड फ्लू से मौत का पहला मामला सामने आया है. जारी रिपोर्ट के मुताबिक, दिल्ली में स्थित अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान में भर्ती हरियाणा के 11 साल के लड़के की मंगलवार को H5N1 एवियन इन्फ्लुएंजा (बर्ड फ्लू) से जान चली गई है. जानकारी के लिए बता दें कि बच्चा बीते दो जुलाई को एम्स के डी-5 वार्ड में भर्ती हुआ था. यहां हालत बिगड़ने पर उसे पहले आईसीयू और फिर वेंटिलेटर पर रखा गया, लेकिन बीते सोमवार को उसकी मौत हो गई. बर्ड फ्लू से जिस बच्चे की मौत हुई उसका नाम सुशील बताया जा रहा है.

संपर्क में आए सभी कर्मचारी आइसोलेट

बच्चे की मौत के बाद मरीज के संपर्क में आने वाले दिल्ली एम्स के पूरे स्टाफ को एहतियात के तौर पर आइसोलेट कर दिया गया है. मंगलवार को संक्रमण की रिपोर्ट मिलने के बाद देश के दो अलग-अलग वैज्ञानिक दलों को सक्रिय कर दिया है. वहीं सरकार ने हाई अलर्ट भी जारी कर दिया है. सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक मृतक हरियाणा का था और एनसीडीसी की एक टीम को उस गांव में भेजा गया है जहां इस मामले का पता चला है.

यह भी पढ़े -   हरियाणा में 20 हज़ार परिवारों को मिलेंगे सस्ते मकान, तेज़ी से चल रहा निर्माण कार्य

क्या है बर्ड फ्लू बीमारी

विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार H5N1 एक प्रकार का इन्फ्लूएंजा वायरस है जो एवियन इन्फ्लूएंजा (बर्ड फ्लू) नामक पक्षियों में एक अत्यधिक संक्रामक, गंभीर श्वसन रोग का कारण बनता है. H5N1 एवियन इन्फ्लूएंजा से इंसानों में संक्रमण के मामले कभी-कभी होते हैं. लेकिन एक इंसान से दूसरे इंसान में संक्रमण मुश्किल होता है. अगर कोई इंसान एवियन इन्फ्लूएंजा सें संक्रमित हो गया तो मृत्यु दर लगभग 60% होती है. बर्ड फ्लू जिंदा और मरे पक्षियों से इंसानों में फैल सकता है.

यह भी पढ़े -   सीएम खट्टर का मंदिर तोड़ने पर बड़ी कार्रवाई, पूर्व पार्षद समेत कई लोगों पर केस दर्ज

जानकारी के लिए बता दें कि साल के शुरूआत में जनवरी महीने में देश के हरियाणा, महाराष्ट्र, केरल, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, गुजरात, उत्तर प्रदेश और पंजाब जैसे नौ राज्यों के पोल्ट्री फार्म पर बर्ड फ़्लू की पुष्टि हुई थी, जिसके बाद संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए मुर्गियों को मारा गया था.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!